पब्लिक एड्रेस सिस्टम को और अधिक मजबूत किया जाये - अवनीश कुमार अवस्थी


लखनऊ। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने आज यहां लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री ने कहा है कि प्रदेश सरकार सभी को बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है। इसके दृष्टिगत यह सुनिश्चित किया जाए कि मरीजों को कोई दिक्कत न हो। उन्होंने समस्त कोविड अस्पतालों में दवाई तथा ऑक्सीजन की सुचारु व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कोविड-19 के टेस्टिंग कार्य को पूरी क्षमता से संचालित करने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि हाई रिस्क गु्रप के अधिक से अधिक टेस्ट किए जाएं। सर्विलांस सिस्टम को मजबूत किया जाए। उन्होंने कहा कि टेस्टिंग और सर्विलांस व्यवस्था जितनी सुदृढ़ होगी, कोविड-19 के प्रसार को नियंत्रित करने में उतनी अधिक सफलता मिलेगी।


श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री ने निर्देशित किया कि के0जी0एम0यू0 को स्वास्थ्य विभाग के अस्पतालों से तथा एस0जी0पी0जी0आई0 को चिकित्सा शिक्षा विभाग के अन्तर्गत मेडिकल काॅलेजों व चिकित्सा संस्थानों से वर्चुअल आई0सी0यू0 के माध्यम से जोड़ा जाए। इससे गम्भीर रोगियों को विशेषज्ञ चिकित्सकों के माध्यम से बेहतर इलाज की सुविधा प्राप्त होगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने कहा कि जब तक कोरोना की कोई कारगर दवा अथवा वैक्सीन विकसित नहीं हो जाती, तब तक सावधानी व बचाव ही एक मात्र उपाय है। इसके दृष्टिगत लोगों को जागरूक किए जाने की कार्यवाही लगातार जारी रखी जाए। जनता को विभिन्न प्रचार माध्यमों से संक्रमण से बचाव के बारे में जानकारी दी जाए। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये है कि पब्लिक एड्रेस सिस्टम को और अधिक मजबूत किया जाये। अब तक 6000 स्थानों पर पब्लिक एड्रेस सिस्टम को लगाया जा चुका है तथा 15,000 स्थानों पर विभिन्न विभागों से समन्वय स्थापित कर लगाने की कार्यवाही की जा रही है।


श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री ने कहा है कि ई-संजीवनी एप के माध्यम से उपलब्ध कराई जा रही ओ0पी0डी0 सुविधा काफी उपयोगी सिद्ध हो रही है। इसके दृष्टिगत ई-संजीवनी एप का व्यापक प्रचार-प्रसार कराया जाए, जिससे लोग घर पर रहते हुए चिकित्सीय परामर्श प्राप्त कर सकें। उन्होंने चिकित्सकों तथा पैरामेडिक्स का प्रशिक्षण कार्य निरन्तर संचालित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जनपद लखनऊ व कानपुर नगर में विशेष ध्यान देते हुए रिकवरी दर को बेहतर बनाया जाए।


गृह विभाग द्वारा धारा-188 के तहत 2,31,099 एफआईआर दर्ज करते हुये 4,36,007 लोगों को नामजद किया गया है। प्रदेश में अब तक 1,67,16,001 वाहनों की सघन चेकिंग में 74,689 वाहन सीज किये गये। चेकिंग अभियान के दौरान 87,21,30,726 रूपए का शमन शुल्क वसूल किया गया। आवश्यक सेवाओं हेतु कुल 4,39,958 वाहनों के परमिट जारी किये गये हैं। कालाबाजारी एवं जमाखोरी करने वाले 1260 लोगों के खिलाफ 932 एफआईआर दर्ज करते हुए 452 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि फेक न्यूज के अन्तर्गत 2643 मामलों को संज्ञान में लेते हुए अभी तक कुल 105 एफआईआर पंजीकृत करायी गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश के 18,109 कन्टेनमेंट जोन के 1,199 थानान्तर्गत, 12,98,670 मकानों के 72,26,285 लोगों को चिन्हित किया गया है। इन कन्टेनमेंट जोन में कोरोना पाॅजिटिव लोगों की संख्या 47,956 है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में कन्टोमेन्ट जोन की संख्या में कमी आई है। उन्होंने बताया कि परिवहन विभाग द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार कल 7838 बसों के माध्यम से 11 लाख 40 हजार लोगों ने यात्रा की। हवाई जहाज से 1223 लोगों ने तथा 206 ट्रेनों के माध्यम से 71,421 लोगों ने यात्रा की।


अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कोविड-19 टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है। प्रदेश में कल एक दिन में अब तक का सर्वाधिक कुल 1,60,717 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 99,37,675 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के संक्रमित 4,069 नये मामले आये है। प्रदेश में अब तक कुल 3,36,981 लोग पूर्णतया उपचारित होकर डिस्चार्ज किये गये। प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 5711 लोग उपचारित हुए। प्रदेश में रिकवरी का प्रतिशत अब बढ़कर 85.34 है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 52,160 कोरोना के एक्टिव मामले है। उन्होंने बताया कि होम आइसोलेशन में 25,399 लोग हैं। उन्होंने बताया कि निजी चिकित्सालयों में 3647 लोग तथा सेमी पेड एल-1 प्लस में 108 लोग ईलाज करा रहे है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,25,065 क्षेत्रों में 3,90,012 सर्विलांस टीमों के माध्यम से 2,54,78,965 घरों के 12,64,06,807 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि कल मुख्यमंत्री एल-2 लेवल के 07 हास्पिटलों का शुभारम्भ करेंगे। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार का प्रयास है कि प्रत्येक जिले में एल-1 हास्पिटल के साथ-साथ एल-2 हास्पिटल भी स्थापित किये जाए। जिससे कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने में जन सामान्य को इलाज कराने में सुविधा प्राप्त हो सके। उन्होंने बताया कि आगामी 01 अक्टूबर से प्रदेश में अन्र्तविभागीय समन्वय से संचारी रोग अभियान चलाया जायेगा जिसमें एई, जेई, चिकनगुनिया, हैजा, आदि के संबंध में लोगों को जागरूक किया जायेगा। इसके साथ ही 01-15 अक्टूबर के मध्य दस्तक अभियान भी चलाया जायेगा, जिसके अन्तर्गत स्वास्थ्य विभाग की आंगनबाड़ी कार्यकात्री व आशा बहुएं भी घर-घर जाकर मातृ व नवजात शिशुओं की लाइन लिस्टिंग भी की जाएगी, जिससे टीकाकरण में आसानी हो सके। जिन बच्चों का अभी तक टीकाकरण नहीं हुआ हो उनका इस अवधि में टीकाकरण करा लिया जाए।


Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार