जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश अचानक पहुंचे अमीरूद्दौला इस्लामिया इंटर कॉलेज और लिया कोविड प्रोटोकॉल का जायजा।


लखनऊ। दिनांक 15 अक्टूबर से उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा स्कूलों को खोलने के निर्देश दिए गए थे। जिसके क्रम में आज जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश द्वारा जनपद के कई स्कूलों का निरीक्षण किया गया। ताकि कोविड प्रोटोकॉल, सोशल डिस्टेंसिग व अन्य व्यवस्थाओं का भौतिक सत्यापन सुनिश्चित किया जा सके। जिलाधिकारी द्वारा निरीक्षण की शुरुआत अमीरूद्दौला इस्लामिया इण्टर कालेज से की गई। जिसके बाद हीरालाल यादव बालिका इण्टर कालेज व राजकीय बालिका इण्टर कालेज का भी निरीक्षण किया गया। जिलाधिकारी द्वारा किये गए निरीक्षण की आख्या निम्नवत है :- 


1) अमीरूद्दौला इस्लामिया इण्टर कालेज, लखनऊ :-
कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण की रोकथाम व बचाव कार्य के दृष्टिगत् जिलाधिकारी द्वारा जनपद लखनऊ स्थित इस्लामिया इण्टर कालेज, लखनऊ का निरीक्षण किया गया। प्रधानाचार्य द्वारा अवगत कराया गया कि कक्षा में विद्यार्थियों की 15 प्रतिशत की उपस्थिति दर्ज थी। कक्षा में जिलाधिकारी द्वारा बच्चों से पूछे जाने पर बच्चे के द्वारा अनुमति पत्र का प्रारूप प्रस्तुत किया गया। जिस पर जिलाधिकारी द्वारा नाराजगी व्यक्त की गई।  अवगत कराया गया कि उनके अभिभावकों द्वारा विद्यालय जाने की अनुुमति लिखित रूप से दी जानी अनिवार्य है। उक्त के सम्बन्ध में पूछे जाने पर प्रधानाचार्य द्वारा असंतोषजनक उत्तर दिया गया। जिस पर जिलाधिकारी द्वारा जिला विद्यालय निरीक्षक, लखनऊ निर्देशित किया गया कि इस सम्बन्ध में विद्यालय प्रबन्धन को नोटिस जारी कर आवश्यक कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। साथ ही विद्यायल द्वारा SOP के दिशा निर्देश का अनुपालन न करने के लिए भी अलग से कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। 


2) हीरालाल यादव बालिका इण्टर कालेज, सरोजनी नगर, लखनऊ:-
कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण की रोकथाम व बचाव कार्य के दृष्टिगत् जिलाधिकारी द्वारा जनपद लखनऊ स्थित हीरालाल यादव बालिका इण्टर कालेज का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान जीव विज्ञान की कक्षा का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान उपस्थित छात्राओं से अभिभावकों द्वारा लिखित अनुमति के बारे में पूछे जाने पर उनके द्वारा अवगत कराया गया कि उनके अभिभावकों द्वारा विद्यालय आने की लिखित अनुमति दी गई है, जो कि विद्यालय प्रबन्धन के पास है। छात्राओं द्वारा अवगत कराया गया कि कक्षा में कुल 63 बच्चें हैं, जिनमें से 19 बच्चें कक्षा में उपस्थित थे।  विद्यालय द्वारा  SOP के दिशा निर्देशों का अनुपालन नही होता पाया गया। जिसके लिए इस सम्बन्ध जिला विद्यालय निरीक्षक, लखनऊ को निर्देशित किया गया कि विद्यालय को नोटिस दी जाये तथा उनके विरूद्ध नियमानुसार आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करायें तथा कृत कार्यवाही से अवगत कराया जाए। 


3) राजकीय बालिका इण्टर कालेज, श्रृंगार नगर, आलमबाग, लखनऊ:-
कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण की रोकथाम व बचाव कार्य के दृष्टिगत् जिलाधिकारी द्वारा जनपद लखनऊ स्थित राजकीय बालिका इण्टर कालेज, श्रृंगार नगर, आलमबाग, लखनऊ का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान पूजा रानी प्रवक्ता, अंग्रेजी, लखनऊ द्वारा अवगत कराया गया कि सुधा बाजपेई, प्रधानाचार्य अवकाश पर हैं। विद्यालय द्वारा छात्राओं हेतु गेट पर सेनेटाइजर, थर्मल स्कैनर व पल्स आॅक्सीमीटर की व्यवस्था की गई है तथा उनका रजिस्टर भी बनाया गया है, जिसमें उनका पूर्ण विवरण रक्षित है।  विद्यालय में एक बालिका दुप्पटे से मुह ढके पाई गई जिसके लिए जिलाधिकारी द्वारा तत्काल मास्को का वितरण किया गया।


Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार