सचिवालय में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह का एसटीएफ ने किया खुलासा 


लखनऊ। एसटीएफ उ0प्र0 को सचिवालय व अन्य सरकारी विभागों में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह के सरगना देवेश कुमार मिश्र व 01 अन्य अभियुक्त को गिरफ्तार करने में उल्लेखनीय सफलता प्राप्त हुई है। यूपीएसटीएफ ने इंदिरानगर थाना क्षेत्र से दोनों जालसाजों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार जालसाजों के पास से बड़ी संख्या में दस्तावेज मिले हैं। 


गिरफ्तार अभियुक्तों ने पूछताछ करने पर बताया कि उसका एक  गिरोह है जो बेरोजगार नवजवानों को ढ़ूढ़ते हैं और उन्हें सचिवालय व अन्य सरकारी विभागों में नौकरी दिलाने का लालच देकर उनसे पैसा लेते हैं तथा उनको हम लोगों द्वारा फर्जी तरीके से तैयार किया हुआ सचिवालय का लोगो लगा क्लर्क एवं चपरासी के पद का फर्जी  नियुक्ति पत्र पर मुख्य सचिव, उ0प्र0 का फर्जी हस्ताक्षर करके उनको नियुक्ति पत्र दे दिया जाता था। अभ्यर्थियों से हम लोग सचिवालय के बाहर मिलते थे जिससे उनको विश्वास हो जाता था। प्रति अभ्यर्थी क्लर्क के पद के लिए 04 से 05 लाख रूपये व चपरासी पद के लिए 02 से 03 लाख रूपये तक लेते थे। अभ्यर्थियों से मिले पैसों को हम लोग सबके काम के हिसाब से आपस में बांट लेते थे।


उक्त अभियुक्तों के विरूद्ध थाना इन्दिरानगर, जनपद लखनऊ में मु0अ0सं0 378/2020 धारा 419, 420, 467, 468, 471, 504, 506 भादवि में दाखिल किया गया है। अग्रिम कार्यवाही स्थानीय पुलिस द्वारा की जा रही है। 


Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार