योगी सरकार ने पिछडो, दलितों, अल्पसंख्यों और ब्राह्मणो का विश्वास अपनी जातिगत राजनीती के कारण खो दिया: संजय सिंह 


लखनऊ। आम आदमी पार्टी के उत्तर प्रदेश प्रभारी और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने योगी सरकार के दलित विरोधी बताते हुए कहा की उनके राज में दलितों के अधिकारों को कुचला जा रहा है और दलित बेटियों को न्याय नहीं मिल रहा है| ये बात उन्होंने प्रदेश कार्यालय में आयोजित एक प्रेस वार्ता में कही| उन्होंने कहा की प्रदेश में अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई करने से पहले उसकी जाति जो किसी भी सरकार और प्रदेश की जनता के लिए बेहद शर्मनाक है| आज़ादी के 74  सालो में पहली बार उत्तर प्रदेश में ऐसा देखने को मिला रहा है की योगी सरकार ने पिछडो, दलितों, अल्पसंख्यों और ब्राह्मणो का विश्वास अपनी जातिगत राजनीती के कारण खो दिया है।


उन्होंने आगे कहा कि हाथरस की घटना में जिस बेशर्मी और बेरहमी के साथ सरकार और पूरा  प्रसाशनिक अमला बलात्कारियो को बचाने में लग गया| जय प्रकाश पाल की हत्या के बाद भी सरकार हत्यारे के साथ खड़ी दिखाई दी| हाथरस की घटना ने सारे देश के दलित समाज के मन  में ये बात पैदा कर उनके उस विश्वास को और मजबूर कर दिया की भाजपा और योगी के राज में दलितों का सम्मान नहीं है और भाजपा दलित विरोधी मानसिकता वाली पार्टी है| उन्होंने हाथरस काण्ड पर बोलते हुए कहा की इस घटना से नाराज़ होकर, योगी सरकार से न्याय की उम्मीद खो चुके गाजियाबाद करहेड़ा गांव में बाल्मीकि समाज के 236 लोगों ने हिंदू धर्म का त्याग दिया। उन्होंने यह कदम उस दुःख और पीड़ा के चलते उठाया जिसमे हाथरस जैसी घटना में उनके समाज का मानमर्दन किया गया | उनका ये कदम एक बहुत करारा तमाचा है योगी आदित्यनाथ की सरकार के मुँह पर और एक बहुत बड़ा सवाल है उनकी सरकार पर की जब उनके राज में दलित सामज अपने साथ हो रहे अपराधों से, न्याय न मिल पाने से इतना दुखी और हताश क्यों है| बीजेपी बताये कि आखिर इन बाल्मीकि समाज के लोगों को धर्म परिवर्तन के लिए मजबूर क्यों होना पड़ा?


बीजेपी के शीर्ष नेतृवत से सवाल की वो बताये की दलित विरोधी मानसिकता वाला ऐसा व्यक्ति प्रदेश सरकार का मुखिया कैसे हो सकता है जिसके राज में दलित समाज के लोग हिन्दू धर्म छोड़ने को तैयार हो जाये| क्या ऐसा व्यक्ति प्रदेश की जनता के साथ न्याय कर सकता है? योगी सरकार की मानसिकता के स्तर की बात करे तो हम हज़ारो साल पीछे की सामंतवादी और राजशाही वयवस्था में चले गए है| आम आदमी पार्टी मांग करती है की जिस सरकार में दलितों और पिछडो का विश्वास नहीं, बेटियों को न्याय नहीं ऐसी सरकार को बने रहने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है और योगी को अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए| आज उत्तर प्रदेश बेटियों के लिए कब्रगाह जैसा हो गया है आये दिन हत्या और बलात्कार की खबरे सामने आ रही है और ऐसे मैं न्याय देने की जगह अपराधियों की जाति देखी जा रही है| चाहे वह हाथरस का मामला हो अथवा बलिया में एसडीएम और सीओ की मौजूदगी में पाल समाज के व्यक्ति के सीने में गोली मार हत्या कर देने का। भाजपा और उसकी सरकार दोषियों के पक्ष में खुलकर खड़ी नजर आई। वहां का क्षेत्रीय विधायक तो अभी भी खुलकर हत्या के आरोपी भाजपा कार्यकर्ता के साथ खड़ा है औरकह रहा है की हाँ उसने गोली चालयी, हत्या तो करी पर उसके साथ भी अन्याय हुआ है। प्रदेश के लिए इससे ज्यादा शर्मनाक कोई बात नहीं हो सकती।


आप सांसद संजय सिंह ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने काला कृषि कानून लाकर एमएसपी को खत्म कर दिया और कालाबाजारी मुनाफाखोरी और जमाखोरी को कानूनी मान्यता दे दी। सरकार ने धान का क्रय मूल्य 1950 रुपये घोषित कर रखा है लेकिन किसानों को हजार रुपए ही मिल रहा है। लखीमपुर खीरी में तो एक किसान ने खेत में खड़ी अपनी धान की फसल पर ट्रैक्टर चला दिया। पंजाब में किसान आंदोलन पर हैं। आम आदमी पार्टी विधायक और एक-एक कार्यकर्ता किसानों के साथ आंदोलन में जुटा है। उन्होंने कहा कि इसी मोदी सरकार ने प्रतिवर्ष एक करोड़ रोजगार, काला धन वापस लाने, नोटबंदी से आतंकवाद और कालाधन खत्म करने, जीएसटी से 'वन नेशन वन टैक्स' की व्यवस्था की बात कही थी लेकिन देश में जीडीपी 24 फ़ीसदी गिर गई और बेरोजगारों की फौज खड़ी हो गई तथा कोरोना में देश दूसरे नंबर पर आ गया। किसान, नौजवान आंदोलित है लेकिन मोदी जी कान में रुई और आंख पर पट्टी बात कर बैठे हैं, उनको यह सब दिखाई सुनाई ही नहीं पड़ता।


बिहार चुनाव में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के चुनावी दौरे पर चुटकी लेते हुए आप सांसद ने कहा कि योगी हार जाकर क्या बताएंगे? यह की हाथरस, बाराबंकी में दलित बच्ची के साथ बलात्कार कर हत्या कर दी जा रही है। कारोबारी इंद्रकांत से एसपी रंगदारी वसूलता है और न देने पर हत्या करा देता है। चित्रकूट, प्रतापगढ़, गोरखपुर, पडरौना में बच्चियां न्याय न मिलने पर आत्महत्या कर रही। प्रदेश में अपराध भ्रष्टाचार की बाढ़ आ गई है। उन्होंने कहा कि यूपी में 'अपराधी लूट में, योगी जी फोटो शूट में' व्यस्त हैं। किसान, नौजवान, व्यापारी, कारोबारी सब हलकान हैं। योगी जी बलिया की घटना पर हंस रहे हैं। प्रदेश प्रभारी ने कहा 'बाबाजी' पहले यूपी संभालो। आपने इसकी हालत बद से बदतर कर दी है। कहा कि भाजपा शिक्षा स्वास्थ्य चिकित्सा रोजगार सुरक्षा की बात नहीं करती। ताली-थाली बजाना, लोगों को बेवकूफ बनाना और ठगना इनका काम है।मोदी जी बताएं? पिछली बार बिहार विधानसभा चुनाव में डेढ़ लाख करोड़ का पैकेज दिया था, हुआ क्या? आप सांसद ने कहा कि राम मंदिर का समाधान देश की सर्वोच्च अदालत सुप्रीम कोर्ट ने किया और दोनों पक्षों ने इसको स्वीकार किया है।आरोप लगाया कि जब चुनाव आता है तब भाजपा इसे अपने पिटारे से निकालती है और मंदिर मस्जिद का राग अलापना शुरू कर देती है। अब लोगों को भी इनकी नियति का पता चल गया है। उन्होंने कहा कि जनता को बुनियादी मुद्दों रोटी, कपड़ा, मकान,बिजली, पानी,सड़क पर सवाल उठाना चाहिए।


बहुजन समाजवादी पार्टी की सुप्रीमो दलित नेता मायावती पर हमला बोलते हुए आप सांसद और प्रदेश प्रभारी संजय सिंह ने कहा कि दलित समाज में चार बार समर्थन देकर बसपा सुप्रीमो मायावती को अपना मुख्यमंत्री बनाया। बहन जी एक बार भी आज तक हाथरस नहीं गई। दलित समाज की बच्चियों के साथ जघन्य वारदातें हुई कभी बसपा सुप्रीमो ने इनका दुख दर्द नहीं पूछा। बहन मायावती ने दलित समाज का विश्वास खो दिया है। जब खुद को दलितों का मसीहा कहने वाली बसपा सुप्रीमो किसी दलित के दुख दर्द में खड़ी नहीं हो सकती तो आखिर दलित समाज उन पर भरोसा कैसे करेगा।


Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार