बच्चों में होने वाले शारीरिक एवं मानसिक परिवर्तनों को जाने और उनके तनाव को करे दूर: मनोज कुमार राय

 


 

लखनऊ। महिला कल्याण के निदेशक मनोज कुमार राय ने बताया कि उत्तर प्रदेश में महिलाओं और बेटियों की सुरक्षा, सम्मान और स्वालम्बन के लिये एक विशेष अभियान ‘‘मिशन शक्ति की शुरूआत 17 अक्टूबर 2020 से की गई है। उन्होंने बताया कि माह नवंबर 2020 में ‘‘मिशन शक्ति‘‘ के अंर्तगत महिला कल्याण तथा बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग ‘‘मानसिक स्वास्थ्य एवं मनोसामाजिक मुद्दों पर सुरक्षा एवं सपोर्ट‘‘ थीम पर जन सामान्य को जागरूक करने हेतु प्रयासरत है।

 

विभाग द्वारा कल 20 नवंबर 2020 को अन्तर्राष्ट्रीय बाल अधिकार दिवस पर प्रत्येक जनपद में ब्लॉक/ग्राम स्तर पर जिलाधिकारी/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सहित अन्य प्रशासानिक आधिकारियों के नेतृत्व व मौजूदगी में बच्चों और किशोरों कि सुरक्षा, मानसिक स्वास्थ्य एवं मनोसामाजिक आवश्यकताओं, मुद्दों तथा सपोर्ट प्रणाली पर भौतिक रूप में ‘‘शक्ति संवाद‘‘ कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा। इस हेतु जिला प्रोबेशन अधिकारी/जिला कार्यक्रम अधिकारी अपने जनपद के जिलाधिकारी से समन्वय करते हुये कार्यक्रम कि रूपरेखा तैयार करेंगे।

 

 


 

राय ने बताया कि शक्ति संवाद कार्यक्रम के अंतर्गत बच्चों एवं किशोरों में होने वाले मानसिक एवं भावनात्मक परिवर्तनों के बारे में उनमें स्वयं, उनके माता-पिता एवं परिवार और समुदाय के बीच अधिकारियों के माध्यम से सीधे संवाद स्थापित किया जायेगा तथा जागरूकता बढ़ायी जायेगी। मानसिक समस्याओं जैसे चिंता, तनाव, अवसाद के लक्षणों को पहचानना तथा उनके व्यावहारिक, शारीरिक, भावनात्मक इत्यादि संकेतों को जाना जायेगा। जनपद में मानसिक स्वास्थ्य सेवाओं की आवश्यकता एवं उपलब्धता पर प्रकाश डाला जायेगा।

 

बच्चों तथा किशोरों की मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं तथा उनके स्तरों से अधिकारियों को परिचित कराते हुये जनपद स्तर पर उनके पुर्नवास हेतु समग्र कार्ययोजना तैयार कर तथा उसका क्रियान्वयन किया जायेगा। उन्होंने बताया कि लक्षित समूह के अंतर्गत किशोर उम्र में लड़के एवं लड़कियां, विशेष रूप से जरूरतमंद, दिव्यांग पहले से मानसिक विकार के शिकार, घरेलु हिंसा, शारिरिक, यौन, भावनात्मक शोषण या उपेक्षा के शिकार या उससे प्रभावित बच्चे, उनके परिवार एवं समुदाय को रखा गया है।

         

राय ने बताया कि जिलाधिकारी/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक/अन्य प्रशाशनिक आधिकारियों जनपद मे स्थ्ति बाल गृह, आश्रम शाला आदि में बच्चों से उनकी परेशानियों के बारे में चर्चा की जायेगी और विशेष जरूरतों के लिए उचित सेवाओं तक पहुचने के बारे में बताया जायेगा एवं साकारात्मक विचार भी व्यक्त किया जायेगा। बच्चो के लिये #shaktisamvad #voicesofyouth चित्रण चैलेन्ज का आयोजन पंचायत स्तर पर वी0सी0पी0सी0 के द्वारा किया जायेगा, जिसमें बच्चें 10-19 वर्ष के अपने चित्रण द्वारा एक नये दुनिया की परिकल्पना प्रर्दर्शित की जायेगी। जिसमें वो अपने मानसिक स्वास्थ्य एवं हित में कार्यशील एक बेहतर भविष्य, भेदभाव रहित दुनिया की परिकल्पना कर सकेंगें और टैग कर अपने सोशल मीडिया अकाउन्ट पर साझा भी कर सकेंगे।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न