जीते हुए प्रत्याशियों को आगामी विधानसभा चुनाव में उतार सकती है "आप"- संजय सिंह

लखनऊ। आम आदमी पार्टी के उत्तर प्रदेश प्रभारी एवम राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने राजधानी लखनऊ में बुधवार को एक प्रेस वार्ता की. पत्रकारों से बातचीत के दौरान उन्होंने पंचायत सदस्य के 500 प्रत्याशियों की सूची जारी की। जिसमें करीब 45 वकील, 35 पूर्व जिला पंचायत सदस्य या उसके प्रत्याशी रहे ,15 सामाजिक कार्यकर्ता, 15 बीडीसी सदस्य, 12 घरेलू महिलाएं, 7 ग्रामप्रधान, जिला पंचायत के वर्तमान में 7 सदस्य, 4 छात्रनेता, फौज से रिटायर हुए 3 जवान, लोकसभा सदस्य का चुनाव लड़ चुके 3 लोग, 3 शिक्षक, 3 निगम पार्षद जिनका संबंध ग्रामीण अंचल से भी है।
 
कॉलेज के प्रिंसिपल, एक डॉक्टर और ऐसे ही तमाम लोगों को समर्थन देकर प्रत्याशी घोषित किया है । उन्होंने कहा कि पार्टी समर्थित जीते हुए प्रत्याशियों को आगामी विधानसभा चुनाव में भी पार्टी टिकिट देकर चुनाव लड़ने का मौका दे सकती है। संजय सिंह ने कहा कि केजरीवाल सरकार ने बिजली, पानी, चिकित्सा, शिक्षा के क्षेत्र में अभूतपूर्व काम किया है .जिसे हम उत्तर प्रदेश के पंचायत चुनाव में लोगों के बीच जाकर केजरीवाल मॉडल को बताने का काम करेंगे। संजय सिंह ने कहा कि राज्य निर्वाचन आयोग की गतिविधियां समझ से परे हैं। उन्होंने बताया कि 11 अप्रैल को प्रत्याशी को सिंबल मिलेगा। वह 12 अप्रैल को पोस्टर बैनर छपवाएगा, 17 को चुनाव प्रचार बंद हो जाएगा।
 
19 अप्रैल को पहले चरण का चुनाव है ऐसे में महज 5 दिन में एक प्रत्याशी भला अपना प्रचार 50,000 जनता के बीच कैसे कर पाएगा? राज्य निर्वाचन आयोग से उन्होंने अपील की है की इस मसले पर पुनर्विचार करें और उन्होंने बताया की पर्चा खरीदने के लिए महज एक खिड़की है जहां भाजपा के लोग सेटिंग से पर्चा खरीद ले रहे हैं लेकिन बाकी दलों और निर्दलीय और आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार काफी परेशानी झेल रहे हैं। संजय सिंह ने कहा कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भाजपा प्रत्याशियों का बुरा हाल है। उत्तर प्रदेश के किसान, बल्कि देश के किसान, भारतीय जनता पार्टी की दमनकारी नीतियों से बेहद आहत और गुस्से में हैं। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार देश बेचने पर आमादा है।
 
रेल, सेल, एयरपोर्ट, जीवन बीमा, पानी, सड़क सब कुछ मोदी सरकार बेच देने पर उतारू है। संजय सिंह ने भाजपा सरकार पर तंज कसते हुए अदम गोंडवी का एक शेर भी पेश किया "जो डलहौजी ना कर सका वह हुक्काम कर देंगे अगर कमीशन दे दो तो ये हिंदुस्तान नीलाम कर देंगे।" महिलाओं पर हो रही हिंसा का जिक्र करते हुए संजय सिंह ने कहा कि हमीरपुर में आज एक महिला ने अपनी आबरू पर हुए हमले के सदमे में आत्महत्या का प्रयास किया। उन्होंने इसे योगी सरकार के लिए शर्मनाक बताया। उन्होंने यह भी कहा कि ग्राम पंचायत अधिकारियों की भर्ती योगी सरकार ने अपनी अक्षमता के चलते हुए रद्द कर दी। ऐसे दो- तीन सफल अभ्यर्थियों के आत्महत्या की सूचना आ रही है। प्रदेश में जंगलराज चल रहा है, आये दिन बलात्कार, हत्या, लूट डकैती की घटनाएं आम हो गई है।
 
अपराधियों, माफियों को योगी सरकार का संरक्षण प्राप्त है, उनके हौसले बुलंद है जिसकी वजह से आज पुलिस भी यूपी में सुरक्षित नहीं है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ यूपी की हालत सुधारने के बजाय बंगाल, तमिलनाडु, हैदराबाद में जा जाकर रैलियां कर रहे है और वहां की जनता को बरगलाने का काम कर रहे है। दिल्ली सरकार के मंत्री राजेंद्र पाल गौतम, उत्तर प्रदेश के जिला पंचायत चुनाव प्रभारी हैं। उन्होंने भी वर्चुल माध्यम से इस प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कि उत्तर प्रदेश में जंगलराज है। पार्टी पंचायत चुनाव मजबूती से लड़ेगी और भारी सफलता प्राप्त करेगी इसके अलावा यह चुनाव 2022 के आने वाले विधानसभा चुनाव की दिशा भी तय करेगा। उत्तर प्रदेश की जनता योगी सरकार की विदाई का मन बना चुकी है।
 
दिल्ली विधानसभा के मुख्य सचेतक, विधायक दिलीप पांडे ने कहा कि उत्तर प्रदेश की जनता दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार के विकास मॉडल का इंतजार कर रही है। दिल्ली में चिकित्सा, शिक्षा, बिजली, पानी की दिशा में अभूतपूर्व काम आम आदमी पार्टी की सरकार ने किया है। सभी घोषित प्रत्याशियों को शुभकामना दी और कहा कि सभी लोग केजरीवाल सरकार के काम को यूपी में घर- घर पहुचाने का काम करेंगे और पार्टी के सभी प्रत्याशी उत्तर प्रदेश की एक नींव रखेंगे ये चुनाव एक बदलाव की शुरुआत है। आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सभाजीत सिंह ने कहा कि पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह के नेतृत्व में आम आदमी पार्टी उत्तर प्रदेश में अभूतपूर्व प्रदर्शन करेगी. पंचायत चुनाव का परिणाम उत्तर प्रदेश की राजनीति को एक दिशा देगी।
 
उत्तर प्रदेश की जनता केजरीवाल मॉडल को पसंद कर रही है और यूपी में लाना चाहती है। उन्होंने कहा कि सभी प्रत्याशी और कार्यकर्ता केजरीवाल मॉडल को गांव- गांव लेकर जाएंगे। संजय सिंह ने केंद्र सरकार के गवर्नमेंट ऑफ नैशनल कैपिटल टेरिटरी (अमेंडमेंट) बिल, 2021 (GNCTD बिल) की भी कड़े शब्दों में निंदा की। कहा कि दो बार 90 फीसद से ज्यादा सीट पाई सरकार के अधिकारों को कम करने का यह केंद्र की भाजपा सरकार का दमनकारी कदम है। इसका समुचित जवाब जनता देगी।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन