प्रदेश की जनता इस संकटकाल में ढूंढ रही है तथाकथित गंगा पुत्र को- अशोक सिंह

लखनऊ। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता अशोक सिंह ने राज्य की योगी सरकार पर हमला बोलते हुए आरोप लगाया है कि कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने में पूरी तरह असफल होकर वह बर्बरता पर उतर चुकी है। यही कारण है कि विफलताओं के स्मारक पर खड़ी होकर सत्ता के अहंकार में डूबी सरकार जीवन मृत्यु से संघर्ष कर रहे लोगों की मदद करने वाली कांग्रेस सहित अन्य मददगारों को डराने, धमकाने के लिये उन पर फर्जी मुकदमें लिखाकर जेल भेजने पर उतर आयी है। 

लोगों की जीवन रक्षा में लगे कांग्रेसजनों की मदद लोगों तक न पहुचे, इसके लिए संवेदनाशून्य क्रूर शासक मददगारों व सवाल पूछने वालों सहित इनकी विफलताओ को सामने लाने वालों पर मुकदमा लिखाकर जनता की मदद करने वालों को मदद करने से रोकना चाहती है। प्रवक्ता अशोक सिंह ने कहा कि योगी सरकार ने पिछले कोरोना काल में मदद करने से रोकने के लिये प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू सहित लगभग 5 हजार कांग्रेसजनों पर गम्भीर धाराओं में फर्जी मुकदमा दर्ज कर मदद रोकने की कोशिश की थी और अब युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बी0वी0 को केंद्र की दिल्ली पुलिस उत्पीड़न कर मदद करने से रोकना चाहती है लेकिन डबल इंजन सरकार अच्छी तरह समझ ले कि लोगों की जीवन रक्षा के लिये वह न कभी झुकेगी, न रुकेगी, बल्कि सेवा कार्य करती रहेगी, चाहे जितने मुकदमे सरकार दर्ज कर दे। उन्होने कहा कि हम झुकने वाले नहीं है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता अशोक सिंह ने कहा कि कोरोना महामारी की विकरालता के संकटकाल में जब लोगों को इलाज नहीं मिल रहा। मृत्यु के बाद सम्मानजनक अंतिम संस्कार नहीं हो पा रहा है वहीं मुख्यमंत्री के कथित दौरों में फूलों, गुब्बारों से द्वार सजाए जा रहे हैं, रंगोली और रेड कारपेट स्वागत हो रहा है, दूसरी तरफ सरकार को गंगा, यमुना, केन, घाँघरा, सरयू, शारदा सहित अनेक नदियों में बहते शव व नदियों के कछार में दफन शवों को नोचते गिद्ध, चील, कौव्व, इनकी आंखों को दिखायी नहीं दे रहे हैं। सच दिखाने वालांे पर मुकदमा दर्ज करना, घटनाओं को छिपाना, योगी सरकार का दम्भी क्रूरतापूर्ण व्यवहार है। प्रवक्ता सिंह ने कहा कि आज इस कोरोना महामारी के भीषण संकटकाल में प्रदेश की जनता अपने उस तथाकथित गंगा पुत्र को ढूंढ रही है जिन्होने चुनाव के दौरान हेडलाइन बनने और जनता से छल करने की नियत से खुद को गंगा पुत्र बताया था।

अब प्रदेश की जनता इस विपदाकाल में उन्हें ढूंढ रही है। उन्होंने कहा कि सरकार जितने चाहे मुकदमें लिख ले लेकिन प्रदेशवासियों को ऑक्सीजन, वेंटिलेटर, कंसन्ट्रेटर, दवाएं और मृतको को सम्मानजनक अंतिम संस्कार की व्यवस्था करा दे या उससे कुछ नहीं हो सकता तो कम से कम हेराफेरी भरे फर्जी आंकड़ों के बल पर संक्रमण और मौतों की संख्या में बाजीगरी मत दिखाए। वह सच को समझकर टेस्टिंग, ट्रेसिंग, टीकाकरण पर ध्यान देकर शहरों के बाद अब गांवों में तेजी के साथ पांव पसार रहे कोरोना महामारी को रोकने का प्रयास करे और झूठ, फरेब, बेशर्मी के पर्दे से बाहर आये।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन