संकट मोचक बनी डीबीटी

हरदोई कोविड-19 के विरुद्ध लड़ाई में लोगों की परेशानियों को कम करने में सरकार ने जनता का जो सहयोग दिया है, उसके लिए लोग सरकार के प्रति अपना आभार व्यक्त कर रहे हैं। हरदोई जिले में कोरोना वायरस के कारण लॉक डाउन होने से लोग मजदूरी करने काम पर नहीं जा पा रहे हैं और लोगों की दैनिक आमदनी में जो मुश्किलें आई हैं, उसको सरकार ने उनके खाते में सीधे पैसा ट्रांसफर करके कम किया है।

लोगों के जनधन खाते में सीधे पैसा हस्तांतरित होने से लोग  किसी दलाल के चक्कर में नहीं पड़ रहे है और पूरे पैसे का सीधे लाभ उठा रहे है। हरदोई के गांव में लोग इस बात के लिए मोदी सरकार का आभार व्यक्त कर रहे हैं कि इतिहास में पहली बार बिना किसी कमीशन, दलाल अथवा भ्रष्टाचार के केंद्र सरकार से इस मुसीबत के समय सीधे उनके खाते में भेजा रुपया ही उनका सहारा बना। गांव में लोगों को खाने की दिक्कत नहीं है क्योंकि सरकार प्रत्येक व्यक्ति को गेहूं और मुफ्त चावल राशन की दुकान पर उपलब्ध करा रही है।


साथ ही साथ जिनका उज्जवला गैस कनेक्शन है उन्हें खाना पकाने के लिए रसोई गैस का एक सिलेंडर प्रति महीने भी मिल रहा है। हरदोई के ग्राम नानक गंज ग्रंट और नया गांव में लाभार्थियों ने बताया की मोदी सरकार आने के बाद उनका सरकार के प्रति विश्वास बढ़ा है और उन्हें आने वाले दिनों में सरकार से बहुत उम्मीदें भी हैं। करुणा वायरस जैसी कठिनाई के समय में सरकार ने गरीब के घर की खबर ली और उसको दो जून की रोटी भी उपलब्ध कराई। हमने जिस किसी से बात की सभी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सराहना की, सभी इस बात से खुश नजर आए की उन्हे कोरोना संकट की बीच किसी प्रकार की परेशानी नहीं हुयी।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन