कोरोना के पहले फेज से तंगी, भुखमरी से बेहाल जनता की आर्थिक मदद करे सरकार- अशोक सिंह

लखनऊ। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता अशोक सिंह ने भाजपा की उत्तर प्रदेश में योगी सरकार पर आरोप लगाया है कि कोरोना संक्रमण से निपटने में वह पूरी तरह विफल हो चुके हैं। कोरोना के पहले फेज में लॉक डाउन के बाद बदले हालात में निर्धन, बेसहारा, निम्न व मध्यम वर्ग अत्यंत बदहाली व आर्थिक तंगी के दौर से गुजर रहा है।
 
वर्तमान में दूसरे कोरोना फेज के बाद उसकी आर्थिक दशा अत्यंत दयनीय होने की तरफ बढ़ चली है, ऐसे बदले हालात में सावर्जनिक वितरण प्रणाली के माध्यम से फ्री अनाज देने की व्यवस्था के अतिरिक्त न्यूनतम प्रतिमाह 6000 रुपये की नकद आर्थिक सहायता तत्काल उपलब्ध कराए। कांग्रेस प्रवक्ता अशोक सिंह ने राज्य की योगी सरकार से मांग करते हुए कहा कि पिछले 14 महीने में प्रदेश की एक बड़ी आबादी बेरोजगारी का दंश झेल रही है। रोजगार के अवसर सरकार उपलब्ध कराने में असमर्थ हो चुकी है। बड़ी संख्या में लोग लॉकडाउन के चलते अन्य राज्यो से वापस अपने गांव आ रहे हैं। आपात परिस्थितियों में काम आने वाली मनरेगा जैसी योजना में दिहाड़ी कुशल, अकुशल श्रमिको को रोजगार नहीं मिल रहा है।
 
काम की गारंटी न होने से समाज के सभी वर्गों में आर्थिक तंगी है। यह राज्य का दायित्व है कि वह अपने लोगों की मदद करे। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता अशोक सिंह ने कहा कि कोरोना टेस्टिंग, ट्रेसिंग, ट्रीटमेंट देने में पूरी तरह विफल हुई राज्य की योगी सरकार की गलतियों की पीड़ा, दर्द, मौत का मातम उत्तर प्रदेश देख रहा है। कोरोना संक्रमण से बेरोजगार हो चुकी एक बड़ी आबादी जिसमें मध्यम वर्ग, निम्न वर्ग सहित रेहड़ी, खोमचा, फुटपाथ पर छोटी छोटी दुकान लगाकर व दिहाड़ी मजदूरी कर अपने परिवार का पालन पोषण करने वाले संक्रमण से बेमौत मर रहे है तो अब वहीं आर्थिक तंगी के चलते भुखमरी के हालात पैदा होने से भूख से मौत की संभावना को खत्म करने के लिये वह सावर्जनिक वितरण प्रणाली से मुफ्त अनाज देने के साथ सभी तरह के राशनकार्ड धारकों को कम से कम 6000 रूपया प्रतिमाह की आर्थिक मदद मुहैया कराने की तत्काल व्यवस्था करे। 
 
कांग्रेस प्रवक्ता अशोक सिंह ने कहा कि सरकार जनकल्याणकारी कार्यों के लिये लोकतंत्र में निर्वाचित की जाती है। यही कार्य उसे संविधान ने सौंपा है। इसलिये योगी सरकार अपने संवैधानिक दायित्वो का ईमानदारी से पालन करते हुए राज्य के लोगों की विपरीत परिस्थितियों में मदद करे। उन्होंने कहा कि सरकार को सत्ता के अहंकार से निकल कर राज्य के लोगों की सेवा भाव से काम करना चाहिये।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार