एक और सराहनीय पहल

लखनऊ कोरोना की दूसरी लहर में प्रदेश की योगी सरकार जहाँ संक्रमितों के इलाज के लिए तमाम प्रयास कर रही है वही आम जन की समस्याओं को दूर करने की सार्थक सोच के साथ प्रोफेसर मनोज कुमार अग्रवाल और प्रोफेसर डॉ पूजा शर्मा के मार्गदर्शन में स्टूडेंट्स द्वारा स्कंद राय, केशव राय, यश विभंस, पारुल गुप्ता, अनन्या श्रीवास्तव, अंशिका त्रिपाठी, नंदनी मिश्रा, स्नेहलता यादव, वैभव द्विवेदी और अन्य साथियो को लेकर वाट्सएप पर कोविड हेल्प डेस्क ग्रुप बनाया जिसके जरिये जरूरतमन्दों तक उनकी टीम जीवन रक्षक दवाइयों के साथ, प्लाज्मा और ऑक्सीजन आदि मुहैया करा रही है।

गौरतलब हो कि कोरोना संक्रमण को रोकने और इससे प्रदेश को मुक्त बनाने की दिशा में जहाँ सरकारी प्रयास जारी है वहीं लखनऊ विश्वविद्यालय के छत्रों ने इस महामारी से निपटने के लिये सीमित संसाधनों और सोशल मीडिया का सहारा लेकर असहाय पीड़ितों तक सहायता पहुँचाने की ठान ली है। तकनीक के सहारे कोविड संक्रमितों को लाभ पहुंचाने के लिए छात्रों द्वारा बनाये गए कोविड हेल्प डेस्क के वाट्सएप ग्रुप से जहां लखनऊ के जरूरतमन्दों को लिंक के माध्यम से जोड़ा गया वहीं ग्रुप में स्कंद राय के भरोसेमंद मित्र और चिकित्सा क्षेत्र से लोग भी जुड़े हुए है। ग्रूप में अपनी समस्या रखने वाले जरूरतमन्दों तक जीवन रक्षक दवाइयां, स्वेच्छा से प्लाज्मा डोनेट करने वाले व्यक्तियों का सम्पर्क और आक्सीजन उपलब्ध करवाकर संक्रमितों की जान बचाने के साथ उन्हें हॉस्पिटल में एडमिट कराने की व्यवस्था भी टीम के साथी मिलकर अंजाम दे रहे हैं।


कोविड हेल्प डेस्क को लेकर स्कंद राय ने कहा कि कोरोना से जीतने की रणनीति अपनाने की नीयत से इसकी शुरुआत की गई जिसमे कोविड से जूझ रहे लोगो को मदद पहुंचाने का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने बताया अब तक टीम द्वारा लगभग १०० से अधिक लोगो की सहायता की जा चुकी है जिसमे तकरीबन २० प्लाज्मा डोनेशन,३० से अधिक ऑक्सीजन सिलेंडर विथ रेगुलेटर और फूड डिलीवरी हो चुकी है और उन्होंने यह भी बताया कि कोविड हेल्प डेस्क के जरिये जरूरतमन्दों को मदद पहुंचाने के लिए हर सम्भव प्रयास किये जा रहे हैं, अस्पताल में बेड की उपलब्धता से लेकर ऑक्सीजन और जीवन रक्षक दवाओं की उपलब्धता के बारे में लोगो को जानकारी देने के साथ उन्हें सुविधाएं पहुंचाई जा रही है। कोविड संक्रमितों को कहां पर दवा, ऑक्सीजन, प्लाज्मा डोनर और जरूरी स्वास्थ्य सुविधाएं मौजूद हैं, उनकी जानकारी हेल्प डेस्क के माध्यम से दी जा रही है।जिस किसी को मदद की ज़रुरत हो वो निम्नांकित मोबईल नंम्बरों में से किसी एक पर फोन करके अपनी ज़रुरत बता सकते हैं-7007705224,7905817684,9598968298,6388791650

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

यूपी में पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने शुरू की तैयारियां