योगी सरकार ने राजनीतिक विद्वेष के चलते सबसे ज्यादा विपक्ष पर लगाए राजनीतिक मुकदमे- सभाजीत सिंह

लखनऊ। योगी सरकार द्वारा भाजपा कार्यकर्ताओं पर दर्ज मुकदमे वापस लेने की बात कहने पर आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सभाजीत सिंह ने करारा तंज किया है। उन्होंने कहा कि विदाई के वक्त सरकार को अपने कार्यकर्ताओं की याद आई है। इसके साथ ही सभाजीत सिंह ने प्रदेश सरकार से पहले राजनीतिक विद्वेष से विपक्ष के नेताओं एवं सामाजिक कार्यकर्ताओं पर दर्ज मुकदमे वापस लेने की अपील की।
 
सभाजीत सिंह ने कहा कि योगी आदित्यनाथ की सरकार में विपक्ष के नेताओं पर राजनीतिक विद्वेष के तहत व्यापक पैमाने पर सबसे ज्यादा कानूनी कार्रवाई की गई। खुद आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रभारी संजय सिंह के खिलाफ दर्जनों मुकदमे दर्ज करा दिए गए। प्रदेश सरकार ने पार्टी कार्यालय बंद कराने के साथ-साथ उन पर राजद्रोह तक का मुकदमा दर्ज करा दिया। सरकार की नाकामियों के बारे में जिस ने आवाज उठाई उस उस पर एफ आई आर दर्ज की गई। कोरोना काल में सरकार के घोटाले और भ्रष्टाचार पर जिसने भी बात की उस पर पुलिस केस हो गया। अब जब योगी सरकार को अपनी विदाई नजर आ रही है तब उसे अपने कार्यकर्ताओं की याद आई है।
 
उपमुख्यमंत्री ने कहा कि वह भाजपा कार्यकर्ताओं पर दर्ज मुकदमे वापस लेंगे, लेकिन उन्हें इससे पहले राजनीतिक द्वेष के तहत विपक्ष के नेताओं एवं सामाजिक कार्यकर्ताओं पर दर्ज मुकदमे वापस लेने चाहिए। अभी वक्त है सरकार को अपनी नाकामियों स्वीकार करते हुए, विदाई से पहले इनके लिए जनता से माफी मांगनी चाहिए। भाजपा को पता है कि जनता के साथ साथ उसके कार्यकर्ता भी सरकार से खुश नहीं है। इसीलिए सरकार ने उन पर दर्ज मुकदमे वापस लेने की घोषणा करके उन्हें संतुष्ट करने की कोशिश की है। सरकार चाहे जो भी कर ले यूपी की जनता उसे अब दोबारा मौका नहीं देने वाली।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन