स्वास्थ्य विभाग ने जारी की गाइडलाइन, ऑनलाइन मनाया जाएगा योगा दिवस

 
कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के चलते 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस ऑनलाइन मनाया जाएगा। इसके लिए यूपी की मिशन निदेशक अपर्णा उपाध्याय ने प्रदेश के सभी मुख्य चिकित्साधिकारियों को गाइडलाइन जारी की है।
 
गाइडलाइन के मुताबिक योग दिवस पर सामूहिक कार्यक्रम नहीं होंगे। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ एनके गुप्ता ने गाइडलाइन जारी होने के बाद संबंधित अधिकारियों को निर्देश जारी कर दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि लगातार योग करने वाले कोरोना बीमारी से अपेक्षाकृत सुरक्षित रहे। पोस्ट कोविड मामलों में योग काफी उपयोगी साबित हुआ। मिशन निदेशक की ओर से भेजे गए पत्र में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय और आयुष मंत्रालय भारत सरकार के निर्देशों का हवाला देते हुए कहा कि 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस घर पर रहकर ही मनाया जाएगा। कोविड-19 के चलते इस मौके पर किसी भी प्रकार का सामूहिक कार्यक्रम आयोजित नहीं किया जाएगा। योग दिवस डिजिटल मीडिया प्लेटफॉर्म के माध्यम से आयोजित करने के निर्देश दिए गए हैं।
 
योग दिवस के प्रचार प्रसार और जन समुदाय की भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए सोशल मीडिया, यू-टयूब, ट्विटर, फेसबुक और इंस्टाग्राम के जरिए करने के निर्देश दिए गए हैं। ताकि अधिक से अधिक लोग घर बैठे योग दिवस के आयोजन में भागीदारी कर सकें। आयुष मंत्रालय की ओर से प्रतिदिन सोशल मीडिया और विभिन्न ऑनलाइन माध्यमों एवं टीवी चैनलों के जरिए योग प्रशिक्षण कार्यक्रम का प्रसारण किया जा रहा है। ताकि लोग घर बैठे योग सीखकर लाभान्वित हो सकें। फ्रंटलाइन स्वास्थ्यकर्मी योग दिवस का प्रचार-प्रचार करते हुए योग के महत्व और आयुष मंत्रालय द्वारा साझा की गई जानकारी और सोशल मीडिया प्लेटफार्म से आमजन को अवगत कराएं।
 
क्षेत्रीय आयुर्वेद यूनानी अधिकारी डॉ अशोक राणा ने बताया कि जिले में एक जून से अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की तैयारी के लिए शास्त्रीनगर में योग प्रशिक्षक वंदना मिश्रा और सिहानी में योग प्रशिक्षक गायत्री ऑनलाइन प्रशिक्षण प्रदान कर रही हैं। रोजाना सुबह 6 से 7 बजे तक और सुबह साढ़े छह से साढ़े सात बजे तक गूगल मीट के जरिए ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम किया जा रहा है। रोजाना 60-70 लोग जुड़ते हैं। गूगल मीट पर जुडऩे व आयुर्वेद संबंधी परामर्श के लिए क्षेत्रीय नोडल अधिकारी डॉ अजय कुमार से मोबाइल नंबर - 9211265571 पर संपर्क कर सकते हैं। विशेषज्ञों के मुताबिक प्राणायाम करने से काफी लाभ मिलता है। योग से फेफड़ों की क्षमता बढ़ती है और कोविड संक्रमण फेफड़ों पर ही वार करने वाली बीमारी है।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन