मुख्य सचिव की अध्यक्षता में प्रोजेक्ट माॅनीटरिंग ग्रुप की बैठक आयोजित

लखनऊ। मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने प्रोजेक्ट माॅनीटरिंग ग्रुप की बैठक में बुन्देलखण्ड एक्सप्रेसवे, पूर्वांचल एक्सप्रेसवे, गोरखपुर-आजमगढ़ लिंक एक्सप्रेसवे, गंगा एक्सप्रेसवे तथा जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के निर्माण की प्रगति की समीक्षा की।
 
समीक्षा बैठक में बताया गया कि बुन्देलखण्ड एक्सप्रेसवे का 60 प्रतिशत कार्य पूरा हो चुका है तथा परियोजना के अंतर्गत यमुना, बेतवा एवं केन नदी पर पुलों का निर्माण तीव्र गति से चल रहा है। बैठक में बताया गया कि बुन्देलखण्ड एक्सप्रेसवे में 04 आरओबी, 14 दीर्घपुल, 06 टोल प्लाजा, 07 रैम्प प्लाजा, 268 लघु सेतु, 18 फ्लाईओवर्स और 214 अंडरपास का निर्माण कराया जा रहा है। यह एक्सप्रेसवे 04 लेन चैड़ा है और संरचनायें 06 लेन चैड़ाई की बनाई जा रही है। एक्सप्रेसवे में 3.75 मीटर चैड़ाई की सर्विस रोड भी बनाई जा रही है।
 
बुन्देलखण्ड एक्सप्रेसवे के लिए स्ट्रक्चर के साथ-साथ टोल प्लाजा निर्माण का काम भी तेजी से चल रहा है। बैठक में यह भी बताया गया कि आगामी फरवरी माह में एक साइड तथा अप्रैल माह में दोनों साइड यातायात के लिए खोल दिये जायेंगे। पूर्वांचल एक्सप्रेसवे निर्माण की समीक्षा में बताया गया कि एक्सप्रेसवे का निर्माण तीव्रगति से चल रहा है। एक्सप्रेसवे की एक साइड का कार्य माह जुलाई, 2021 के प्रथम सप्ताह तथा दूसरी साइड का कार्य माह अगस्त, 2021 तक पूरा हो जायेगा। गोरखपुर-आजमगढ़ लिंक एक्सप्रेसवे के निर्माण की प्रगति समीक्षा में बताया गया कि एक्सप्रेसवे का निर्माण भी तेजी से चल रहा है तथा माह मार्च, 2022 तक पूरा हो जायेगा।
 
गंगा एक्सप्रेसवे के निर्माण की प्रगति समीक्षा में बताया गया कि भूमि अधिग्रहण का कार्य प्रगति पर है, करीब 60 प्रतिशत भूमि उपलब्ध हो गई है। 31 जुलाई, 2021 तक भूमि अधिग्रहण का कार्य पूरा हो जायेगा।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न