नौकरी नहीं मिलने पर प्रतियोगी छात्र ने लगाई फांसी

प्रयागराज। प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे एक प्रतियोगी छात्र की खुदकुशी के मामले ने तूल पकड़ लिया है। अब इस पर राजनीति शुरू हो गई है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट कर प्रदेश सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने लिखा आज सुबह प्रयागराज से एक युवा द्वारा आत्महत्या कर लेने की दु:खद खबर मिली।
 
खबरों के अनुसार वह नौकरी न लगने के चलते परेशान था। पहले भी ऐसी कई घटनाएं सामने आईं हैं। उन्होंने ने आगे लिखा कि उत्तर प्रदेश में बेरोजगारी चरम पर है। हजारों युवा अपनी भर्तियों की गुहार लेकर राजधानी लखनऊ आते हैं, लेकिन उनकी बात नहीं सुनी जाती। उन्हें गालियां दी जाती हैं और मुकदमे लगाकर अंदर करने की धमकी दी जाती है। आखिर सरकार को क्या परेशानी है खाली पड़े पद भरने मे? प्रयागराज में लाखों छात्र-छात्राएं प्रदेश के विभिन्न जनपदों से आकर पढ़ाई करते हैं। उसके बाद प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में लग जाते हैं। विकास कुमार सिंह प्रयागराज के शिवकुटी थाना अंतर्गत नारायणी आश्रम के पास के मोहल्ले में रहकर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करता था। अनिल सिंह का पुत्र विकास सिंह कई वर्षों से शिवकुटी थाना क्षेत्र के नारायणी आश्रम के पास किराए का कमरा लेकर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करता था।
 
मंगलवार की सुबह वह बहुत देर तक नहीं जगा। शाम को जब अगल-बगल के लोगों ने आवाज दी तो कोई उत्तर नहीं मिला। वहां रहने वाले लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। वह मूलतः अंबेडकर नगर जिले का रहने वाला था। मौके पर पहुंची पुलिस ने दरवाजा तोड़ा तो पता चला कि विकास अंदर कमरे में फांसी के फंदे से लटक रहा है। जांच में पुलिस को एक सुसाइड नोट मिला। सुसाइड नोट में स्वेच्छा से जान देने की बात लिखी गई है। परिजनों को सूचना देने के बाद पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम हाउस भेज दिया।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

यूपी में पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने शुरू की तैयारियां