यमुना एक्सप्रेसवे पर जारी रहेगा जाम का झाम


यमुना एक्सप्रेसवे के जेवर टोल प्लाजा पर फास्टैग (Fastag) लगने के बाद मुसाफिरों को जाम से राहत मिलने की उम्मीद थी। मगर हालात में ज्यादा बदलाव नहीं आया। अब भी पीक ऑवर के दौरान जेवर टोल प्लाजा पर 15 से 20 मिनट इंतजार करना पड़ता है। यहां के सिर्फ दो बूथ पर फास्टैग है। अन्य 6 बूथ पर अभि यह सुविधा शुरू नहीं की गई है।

रोज यात्रा करने वाले लोगों का कहना है कि इन दो बूथ पर भी फास्टैग ढंग से काम नहीं करता है।कभी बिल्कुल ही काम करना बंद कर देता है। इस वजह से वाहन चालकों को लंबा इंतजार करना पड़ता है। इस पर टोल प्लाजा ऑफिशियल का कहना है कि दोनों तरफ के पांच अन्य लेन में फास्टैग लगाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। उसके बाद लोगों को जाम के झाम से राहत मिलेगी। दरअसल पीक ऑवर के दौरान यमुना एक्सप्रेसवे के जेवर टोल प्लाजा पर लंबा जाम रहता है। इस दौरान एक्सप्रेसवे पर गाड़ियों का भारी दबाव होता है। टोल प्लाजा पर कुछ मिनट के इंतजार के चलते कई किलोमीटर तक गाड़ियों का हुजूम दिखाई देता है। उम्मीद जताई जा रही थी कि फास्टैग लगने के बाद जाम से मुक्ति मिलेगी। टोल प्लाजा पर बिना इंतजार किए गाड़ियां क्रॉस कर सकेंगी। लेकिन ऐसा नहीं हो सका है। यमुना एक्सप्रेसवे के जेवर टोल प्लाजा के सिर्फ दो बूथ पर फास्टैग लगाए गए हैं।

अन्य 6 बूथ पर यह सुविधा शुरू करने की प्रक्रिया चल रही है। इस टोल प्लाजा से गुजरने वाले रोजाना हजारों यात्री अपना कीमती वक्त टोल टैक्स के भुगतान में जाया करते हैं। इसकी शिकायत यात्रियों ने टोल प्लाजा की ऑफिसियल कंपनी जेपी से की थी। जवाब में टोल कलेक्ट करने वाली कंपनी जेपी ने कहा है कि दोनों तरफ की पांच और लाइन में फास्टैग लगाने की प्रक्रिया शुरू होने वाली है। लेकिन इसे पूरा करने में 2 महीने का वक्त लगेगा। उसके बाद इस टोल प्लाजा पर गाड़ियों की कम भीड़ लगेगी। पीक ऑवर के दौरान भी मुसाफिरों को जाम से निजात मिलेगी। लोगों का कहना है कि सिर्फ दो लाइन में फास्ट टैग लगा कर आखिर हजारों गाड़ियों को कैसे राहत दी जा सकती थी। प्रशासन को इस बारे में पहले सोचना था। अब अगले 2 महीने तक दूसरे लेन में फास्टैग लगने का इंतजार करना होगा।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

यूपी में पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने शुरू की तैयारियां