पूर्व मुख्यमंत्री बाबू बनारसी दास की 36वीं पुण्यतिथि पर दी गयी भावपूर्ण श्रद्धांजलि

लखनऊ। स्वतंत्रता संग्राम सेनानी व उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबू बनारसी दास की 36वीं पुण्यतिथि के अवसर पर आज बाबू बनारसी दास नगर निवासी कल्याण समिति द्वारा 55 पुराना किला स्थित भवन में आयोजित एक श्रद्धांजलि सभा में बाबू को बी.बी.डी. ग्रुप की चेयरपर्सन अल्का दास गुप्ता, बी.बी.डी. गुप व डॉ. अखिलेश दास गुप्ता फाउण्डेशन के प्रेसीडेन्ट विराज सागर दास एंव बी.बी.डी. गुप की वॉइस प्रेसीडेन्ट कु० सोनाक्षी दास ने बाबू को श्रद्धांजलि देते हुए उनके बताये हुये रास्तों पर चलने की प्रतिबधता को दोहराया।

इस अवसर पर विराज सागर दास ने बाबू के छात्र व युवा जीवन में देश के स्वतंत्रता आन्दोलन की क्रांतिकारी भागीदारी पर खुद को गौरवान्वित महसूस करते हुए कहा कि मेरा सौभाग्य है कि मैनें देश की आजादी के लिए संघर्ष करने वाले अपने दादा बाबू बनारसी दास के कुलवंश में जन्म लिया निश्चित रूप से आज वर्तमान परिवेश में मैं अपने दादा व अपने पूज्य पिता डॉ. अखिलेश दास गुप्ता के बताये हुए रास्तों पर चलने व जनसेवा के लिए समाज की अगली पंक्ति में खड़े रहकर हर संभव काम करने की अपनी कोशिशों को जारी रखूगा। बाबू के निजी सचिव रहे धर्म सिंह ने बाबू जी को श्रद्धांजलि देते हुए बताया कि बाबू ने सामाजिक बुराइयों के विरूद्ध कई सामाजिक आंदोलनों का नेतृत्व किया अपने गृह जनपद बुलंदशहर में अपनी अपार लोकप्रियता के चलते 1946 में निर्विरोध विधान सभा के लिए निर्वाचित हुए।

Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

त्वमेव माता च पिता त्वमेव,त्वमेव बन्धुश्च सखा त्वमेव!

या देवी सर्वभू‍तेषु माँ गौरी रूपेण संस्थिता।  नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।