अखिलेश यादव ने भारतवंशियों को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं दी

लखनऊ पूर्व रक्षा मंत्री मुलायम सिंह यादव ने आज 15 अगस्त के अवसर पर समाजवादी पार्टी के राज्य मुख्यालय लखनऊ में राष्ट्रीय ध्वज का ध्वजारोहण करते हुए सभी को स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी है। ने कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था को मिल रही चुनौतियों से मिलकर निपटना होगा। हमें देश को मजबूत बनाने का संकल्प लेना चाहिए।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने देश-प्रदेश के समस्त नागरिकों और दुनिया भर के भारतवंशियों को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी है। इस अवसर पर पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि 15 अगस्त शहीदों को याद करने का दिन है, जिनके बलिदान से आज हम स्वतंत्र हैं। हमें आंतरिक स्वतंत्रता की रक्षा-सुरक्षा के लिए भी निरन्तर सजग, सचेत, सतर्क, सक्रिय और संकल्पबद्ध रहना होगा। देश की आजादी के लिए लाखों लोगों ने अपने प्राण न्योछावर किये और अनेको स्वतंत्रता सेनानियों ने यातनाएं सही थी। जिन उद्देश्यों के लिए स्वतंत्रता आंदोलन का संघर्ष हुआ क्या भारत उसी रास्ते पर है? यह सोचने का विषय है। यादव ने कहा कि 2022 देश का सम्मान बचाने का चुनाव है। यह जिम्मेदारी एक-एक नौजवान को उठानी चाहिए। सत्ता में बैठे लोगों ने जनता से किया एक भी वादा पूरा नहीं किया।

सबसे अधिक उत्पीड़न एवं अन्याय पिछड़ों-दलितों के साथ हुआ है। उनका संवैधानिक अधिकार आज तक नहीं मिला। 1931 के बाद देश में जातीय जनगणना ही नहीं हुयी। भाजपा जातियों में झगड़ा लगाती है। आबादी के अनुसार सबको हक और सम्मान मिलना चाहिए। सामाजिक न्याय की अवधारणा को साकार करने के लिए जब आबादी के हिसाब से आंकड़े आयेंगे तभी आनुपातिक अवसर की सुविधा सबको मिल सकेगी। भारत में विभिन्न जाति, धर्म वेश-भूषा के लोग एक साथ मिलकर रहते हैं। यही हमारे देश की पहचान है। लेकिन सत्ताधारी लोग गंगा-जमुनी तहजीब खत्म करना चाहते है। भाजपा की मंशा देश के पहचान को समाप्त करने की हैं। हम समाजवादियों की कोशिश होनी चाहिए कि समाज में एक दूसरे से प्यार और सहयोग बढ़े। सामाजिक सौहार्द बढ़ाने की दिशा में मिलकर काम करना चाहिए।

भाजपा सरकार ने किसानों के सामने संकट पैदा किया है। अन्नदाता को अपमानित कर भाजपा अन्न महोत्सव का ढ़ोग रच रही है। किसानों के खुशहाल हुए बिना देश समृद्ध नही हो सकता। किसान ही देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ है। सरकार की लापरवाही से कोविड में लाखों लोगों की जान चली गयी। आम जनता को दवाई, बेड एवं आक्सीजन उपलब्ध कराने में बीजेपी सरकार पूरी तरह विफल रही है। देश की अधिकांश आबादी युवा है। नौजवानों के रोजगार एवं पढ़ाई की व्यवस्था नहीं होगी तो उनका भविष्य क्या होगा? देश की सीमाओं के मुद्दे पर जो मजबूती दिखानी चाहिए वह भाजपा सरकार ने कभी नहीं दिखाई। समाजवादी सरकार में तरक्की और खुशहाली की दिशा में ऐतिहासिक कार्य हुए थे। उत्तर प्रदेश में विश्वस्तरीय सड़के, अस्पताल और नौजवानों के रोजगार में समाजवादियों का महत्वपूर्ण योगदान है। समाजवादी पार्टी ने हमेशा देशहित में कार्य किया है। देश को प्रगति के रास्ते पर ले जाना है तो पूंजी और सत्ता की हिंसा से अलग समाजवाद का ही विकल्प अपनाना होगा।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन