लालजी टण्डन लखनवी रिवायतों के पासदार थे - मौलाना खालिद रशीद

लखनऊ। मध्य प्रदेश के गवर्नर  और उत्तर प्रदेश के पूर्व वरिष्ठ मंत्री लालजी टण्डन की मृत्यु पर मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली इमाम ईदगाह लखनऊ ने अफसोस का इज्हार किया है।


मौलाना फरंगी महली ने कहा कि टण्डन जी लखनऊ की गंगा जमनी सभ्यता और रिवायतों के पासदार थे। वह विभिन्न धर्मो के मानने वालों से मिलते जुलते रहते थे। उनकी धार्मिक व सामाजी तकरीब में शरीक होते थे। वालिद मरहूम मौलाना अहमद मियाॅ फरंगी महली से उनको विशेष अकीदत व तअल्लुक था। हम से भी बहुत मुहब्बत करते थे। हर साल ईद उल फित्र के अवसर पर हमारे घर जरूर आते थे। रबी उल अव्वल के महीने में जश्न खैरूल बशर के विषय से आयोजित होने वाली मीलादुन्नबी की महफिल में पाबन्दी से शरीक होते थे। वह जब प्रदेश के मंत्री थे तो विशेष तौर पर लखनऊ की तामीर व तरक्की और उसकी खूबसूरती में बहुत दिलचस्पी लेते थे। इसी तरह शहर के शिया सुन्नी झगड़े के हल में उनका मुख्य रोल रहता था। मौलाना फरंगी महली ने कहा कि उनके साहबजादे गोपाल टण्डन उनकी विरासत कायम रखे हुए हैं।


Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

या देवी सर्वभू‍तेषु माँ गौरी रूपेण संस्थिता।  नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।

!!कर्षति आकर्षति इति कृष्णः!! कृष्ण को समझना है तो जरूर पढ़ें