Posts

निगरानी समितियों से हार रहा है करोना

Image
सुल्तानपुर । योगी आदित्यनाथ की विशेष पहल पर उतर प्रदेश में कोविड-19 की दूसरी लहर के रोकथाम के प्रयास युद्दस्तर पर शुरु कर दिये गये है। रिपोर्टो के मुताबिक करोना का यह संक्रमण शहरी इलाकों से गांव की ओर आगे बढ रहा है। एसे में उतर प्रदेश में जो रणनीति तैयार की गयी है वह गांव को फोकस करके है। प्रदेश के अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि गांव के स्तर पर निगरानी समितियां बनाई गयी है।इन निगरानी समितियों का मुख्य कार्य गांव के लोगों को जागरुक करना,गांव में साफ सफाई की व्यवस्था तथा सैनिटाइजेशन करोना और जरुरत पड़ने पर संक्रमित लोगों की जांच और दवा की किट की व्यवस्था करना है।करोना कर्फ्यू के कारण आर्थिक गतिविधियों के रुक जाने से प्रवासी मजदूरों के आने का सिलसिला एक बार फिर शुरु हो गया है।हमने बलरामपुर के जिलाधिकारी से बातचीत की,उन्होंने बताया कि जिले के 800 ग्राम पंचायतों में निगरानी समितियां बना दी गयी है।ग्राम निगरानी समितियां लोगों को जागरूक करने और कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के अन्य कार्य में में लगी है। ग्राम निगरानी समिति द्वारा घर घर जाकर लोगों की पहचान करना

कोरोना की रोकथाम के लिए चलाया जा रहा है अभियान

Image
हाथरस। कोविड 19 से बचाव के लिए हाथरस जनपद में भी पहल की जा रही है। जनपद में ग्राम निगरानी समितियों का गठन किया गया है। इन समितियों द्वारा कोरोना की रोकथाम के लिए लोगों की ट्रेसिंग, टेस्टिंग आदि की जा रही है। साथ ही ग्रामीण इलाकों में साफ-सफाई के साथ सैनिटाइजेशन का कार्य चल रहा है। शासन के दिशा निर्देश के तहत नगरीय एवं ग्रामीण इलाकों में कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए। अभियान तेजी से चलाया जा रहा है। हाथरस की ग्राम पंचायतों में साफ-सफाई व सैनिटाइजेशन का कार्य भी तेजी से किया जा रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि यह काफी अच्छा कार्य किया जा रहा है। आंगनबाड़ी कार्यकर्त्ता रेनू रावत ने बताया कि हम लोग सभी को समझा रहे हैं कि अपने घरों में ही रहें, अगर किसी आवश्यक कार्य से निकल रहे हैं तो मास्क लगाकर ही निकलें। साबुन से हाथ धोएं या सेनिटाइजर का प्रयोग करें। सर्दी- ज़ुकाम आदि लक्षण होने पर लोग सूचना प्रदान करें। जिला सलाहकार, पंचायत राज विभाग योगेश सारस्वत ने बताया कि जनपद में कोरोना को नियंत्रित करने के लिए। ग्राम पंचायतों में स्वच्छता अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने बताय

बालू के ढेर में दबाकर और नदियों में शवों को बहाकर मौतों का आंकड़ा छिपा रही योगी सरकार - सभाजीत सिंह

Image
लखनऊ : कोरोना महामारी से प्रदेश कराह रहा है, लेकिन योगी सरकार सब ठीक बता रही है। सरकार की कोशिश झूठ बोलकर अपनी नाकामी छिपाने की है, मगर नदियों के किनारे भयावह मंजर पूरी पोल खोल रहे हैं। गंगा किनारे दो हजार से ज्‍यादा शव दफन हैं। इलाज का हाल तो जगजाहिर है, अब योगी राज में लोगों को सम्‍मानजनक ढंग से अंत्‍येष्टि भी नहीं हो पा रही है। सोमवार को ये बातें आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्‍यक्ष सभाजीत सिंह ने कहीं। प्रदेश में बेकाबू कोरोना महामारी को लेकर सभाजीत सिंह ने योगी सरकार पर करारा हमला बोलते हुए कहा कि सरकार महामारी की सच्‍चाई छिपाने में जुटी हुई है। सही आंकड़े जनता के सामने न आ पाएं, इसीलिए योगी सरकार ने कोरोना जांच आधे से भी कम करा दी है। सभाजीत सिंह ने कहा कि योगी सरकार महामारी पर अंकुश लगाने में पूरी तरह नाकाम साबित हुई है। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ की चुनावी जिद से कोरोना गांव-गांव तक फैल चुका है। अब मुख्‍यमंत्री इस सच्‍चाई को छिपाकर अपनी नाकामी भी छिपाने में लग गए हैं। सभाजीत सिंह ने कहा कि मीडिया रिपोर्ट में लगातार यह बात सामने आ रही है कि मरीजों की संख्‍या कम दिखाने के लिए जां

कोरोना को मात

Image
ललितपुर । बुंदेलखंड के ललितपुर जनपद में पंचायतीराज विभाग के सहयोग से गठित ग्राम निगरानी समितियों के माध्यम से कोरोना महामारी की दूसरी लहर से लड़ने में बड़ी सहायता मिल रही है। जनपद के सभी 415 ग्राम पंचायतों में गठित निगरानी समितियां क्रियाशील होकर गांव के स्कूल, स्वास्थ्य केंद्र, सार्वजनिक स्थलों सहित नालियों की साफ-सफाई के साथ-साथ सैनिटाइजेशन आदि कार्यों में जुट गई है।   ललितपुर जनपद के राजघाट रोड स्थित सिलगन में तैयार की गई ग्राम निगरानी समिति के माध्यम से जहां गांव में फैली गंदगी को मशीनों के माध्यम से हटवाने का काम करवाया जा रहा है। वही सदस्यों द्वारा डोर टू डोर जा कर ग्रामीणों के स्वास्थ्य की जानकारी लेकर लक्षण वाले लोगों को जिला अस्पताल भिजवाया जा रहा है। ग्राम निगरानी समिति गांव के 45 प्लस के लोगों को गांव के स्वास्थ्य केंद्र में ही वैक्सीन की डोज लगवाने को प्रेरित कर रही है। ग्राम प्रधान द्वारा गांव में रोजगार, राशन सहित शासन द्वारा सम्मानजनक अंत्येष्टि सहायता की जानकारी भी गांव वालों को दी जा रही है।   गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हांलहि के बैठक में

एम0ओ0आई0सी0 काकोरी को वरिष्ठ नोडल अधिकारी (कोविड-19) लखनऊ डा0 रोशन जैकब ने किया निलम्बित

Image
लखनऊ:   वरिष्ठ नोडल अधिकारी (कोविड-19) लखनऊ डा0 रोशन जैकब ने एम0ओ0आई0सी0 द्वारा अपने कार्याें में रूचि न लेने और न ही शासन के निर्देशों का अनुपालन न किये जाने पर मुख्य चिकित्साधिकारी ने निर्देशित किया है कि एम0ओ0आई0सी0 काकोरी को तत्काल प्रभाव से निलम्बित करते हुए मुख्यालय से सम्बद्ध किया जाये और किसी सक्षम चिकित्साधिकारी को प्रतिस्थानी के रूप में तैनात करते हुए मुझे अवगत कराया जाये। वरिष्ठ नोडल अधिकारी (कोविड-19) लखनऊ द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, काकोरी जनपद लखनऊ एवं उसके क्षेत्रान्तर्गत दो ग्राम क्रमशः बड़ागांव व दुर्गागंज का निरीक्षण किया गया। काकोरी ब्लाॅक कार्यालय में आयोजित आशा कार्यकात्रियों की बैठक को सम्बोधित भी किया। साथ ही एम0ओ0आई0सी0 एवं उनकी टीम के साथ ग्रामों में घर-घर सर्विलांस एवं दवा वितरण कार्याें की समीक्षा की गयी। समीक्षा के दौरान यह पाया गया कि एम0ओ0आई0सी0 को सर्विलांस टीम द्वारा किये जो कार्यों के सम्बंध में कोई जानकारी नहीं है। दवा वितरण आर0आर0टी0 टीम्स का गठन टीम्स द्वारा प्रत्येक दिन किये जाने वाले आर0टी0पी0सी0आर0 जांच का विवरण आदि किसी भी विषय से सम्बन्धि

प्रधान डाकघर वाराणसी कैंट में डाककर्मियों का हुआ वैक्सिनेशन

Image
वाराणसी। कोरोना को हराना है तो मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग, हैंड वाश के साथ-साथ वैक्सिनेशन भी जरूरी है। इसी क्रम में वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव की पहल पर वाराणसी कैंट स्थित प्रधान डाकघर में 17 मई को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने 45 वर्ष और उससे अधिक आयु वर्ग के डाककर्मियों को  कोरोना वैक्सीन लगाई।   गौरतलब है कि भारत सरकार द्वारा डाक सेवाओं को आवश्यक सेवाओं की सूची में रखा गया है,अतः डाकघर नियमित रूप से कार्य कर रहे हैं। ऐसे में कोरोना वॉरियर्स के रूप में पोस्टमैन व ग्रामीण डाक सेवक डाक बाँटने के लिए नियमित रूप से क्षेत्र में जा रहे हैं, वहीं काउंटर पर भी स्पीड पोस्ट, रजिस्ट्री, पार्सल बुकिंग के अलावा बचत बैंक, बीमा, इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक, आधार जैसी तमाम  सुविधाएँ उपलब्ध हैं। इससे पूर्व भी 15 व 16 अप्रैल को स्वास्थ्य विभाग द्वारा विश्वेश्वरगंज स्थित वाराणसी प्रधान डाकघर में डाककर्मियों का वैक्सिनेशन किया जा चुका है।

भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों शहरों व कस्बों में बाईपास बनाने की बनाई जाए कार्य योजना - केशव प्रसाद मौर्य

Image
प्रयागराज : उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने ग्रामीण सड़कों के रखरखाव ,नवीनीकरण व चौड़ीकरण आदि पर विशेष रूप से फोकस किए जाने की आवश्यकता पर बल दिया है ।उन्होंने यह भी कहा कि भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों,शहरों ,कस्बों आदि में बाईपास बनाने की कार्य योजना बनाई जाए। केशव प्रसाद मौर्य आज राज्य सड़क प्रबंधन समिति की वर्चुअल बैठक में  अधिकारियों को दिशा निर्देश दिए । बैठक में प्रबंधन समिति के सदस्यों से भी सड़क निर्माण कार्यों के बारे में सुझाव लिए गए । राज्य सड़क निधि के अंतर्गत वर्ष 2021 - 22 की कार्य योजना में प्राविधानित 3000 करोड़ रुपए की धनराशि में से 2200 सौ करोड़ रुपए की धनराशि चालू कार्यों पर व 800 करोड़ रुपए की धनराशि नवीन कार्यों पर व्यय किए जाने हेतु समिति द्वारा सर्वसम्मति से अनुमोदन प्रदान किया गया।  समिति द्वारा यह निर्णय लिया गया कि राज्य सड़क निधि 3054 -मद में प्रावधानित 1500 करोड़ में से चालू  कार्य हेतु 1200 सौ करोड़ एवं नए कार्यों हेतु 300 करोड़ रुपए की धनराशि की जाएगी तथा राज्य सड़क निधि मद -5054 मे प्राविधानित 1500 करोड़ के सापेक्ष चालू कार्यों हेतु 1000 कर