बिजली से सम्बन्धित सभी शिकायतों का तत्काल हो निस्तारण: केशव प्रसाद मौर्य


कौशांबी। उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य द्वारा बुधवार को मॉ शीतला अतिथि गृह, सिराथू कौशाम्बी मे अधिकारियों के साथ विकास व निर्माण कार्यों की समीक्षा बैठक की गयी। बैठक में निराश्रित गोवंशों के सम्बन्ध में समीक्षा के दौरान बताया गया कि गौशालाओं में संरक्षित गोवंशों को रात्रि के समय में छोड़ देने की शिकायतें प्राप्त हो रही हैं, जिस पर उपमुख्यमंत्री ने गौशालाओं में संरक्षित गोवंशो का नियमित सत्यापन कराने के निर्देश के साथ ही विशेष टीम का गठन कर रात्रि एवं दिन में गौशालाओं में संरक्षित गोवंशों की जांच कराने के निर्देश मुख्य विकास अधिकारी को देते हुए कहा कि इस प्रकार की लापरवाही पायी जाती है तो सम्बन्धित अधिकारी/कर्मी के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित किया जाय।

उन्होंने छुट्टा घूम रहे गोवंशों को गौशालाओं में संरक्षित करने के निर्देश देते हुए कहा कि किसी भी गोवंश के छुट्टा घूमने की शिकायत न आने पाये। उप मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ जिन किसानां को अभी तक नहीं मिल रहा है, उन सभी पात्र किसानों को योजना से लाभान्वित कराने हेतु आधार कार्ड बनाने की टीम एवं राजस्व विभाग की संयुक्त टीम गठित कर विशेष अभियान चलाकर गांव-गांव में कैम्प लगाकर सभी वंचित पात्र किसानां को लाभान्वित करने के निर्देश दिये। इसके साथ ही उन्होंने आयोजित कैम्प में पेंशन न पा रहे दिव्यांग, वृद्ध एवं विधवा महिलाओं का पेंशन बनाने के निर्देश दिये। उन्होंने सभी पात्र विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति से लाभान्वित करने के भी निदेश दिये। उन्होंने जिला बेसिक शिक्षाधिकारी को विद्यालयां में बच्चां को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा आदि की बेहतर व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिये।

उपमुख्मंत्री ने नगर पालिका परिषद मंझनपुर एंव भरवारी के विस्तार से जो गांव नगर पालिका में शामिल हुए हैं, उन सभी क्षेत्रां में विशेष कैम्प लगवाकर पात्र लोगों को प्रधानमंत्री आवास, पेंशन एवं पेयजल आदि कल्याणकारी योजनाआें एवं अन्य सभी सुविधाओं से प्राथमिकता के आधार पर लाभान्वित करने के निर्देश दिये। उन्हांने जनपद के सभी पात्र व्यक्तियों को प्रधानमंत्री आवास योजना सहित अन्य सभी योजनाओं से सर्वोच्च प्राथमिकता पर लाभान्वित करने के निर्देश दिये। उन्हांने कृषक दुर्घटना के लाभार्थियों को सहायता राशि दिये जाने के निर्देश दिये। उपमुख्यमंत्री ने धान खरीद की समीक्षा के दौरान डिप्टी आर0एम0ओ0 को हाईब्रिड धान के सम्बन्ध में प्रस्ताव तैयार कर शासन को पत्र प्रेषित करने के साथ ही आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। उन्होंने जनपद फतेहपुर एवं प्रयागराज के राईस मिलरों से वार्ता कर आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिये। उन्हांने अधिशासी अभिंयता विद्युत को निर्देशित किया कि ट्रान्सफार्मर बदलने की शिकायत प्राप्त होने पर तत्काल कार्यवाही सुनिश्चित किया जाय तथा इस कार्य में लापरवाही बरतने वाले जे0ई0 के विरूद्ध कार्यवाही की जाय।

उन्होंने कहा कि बिजली से सम्बन्धित सभी शिकायतों का निस्तारण किया जाना सुनिश्चित किया जाय, ताकि लोगों को परेशान न होना पड़े। बैठक में राशन वितरण की समीक्षा के दौरान बताया गया कि कहीं-कहीं पर घटतौली की शिकायतें प्राप्त हो रही हैं, जिस पर उपमुख्यमंत्री ने टास्कफोर्स का गठन कर आकस्मिक जांच कराने के निर्देश देते हुए कहा कि अगर कोई घटतौली करते हुए पाया जाता है तो उसके विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जाय। उन्होंने कहा कि घटतौली करना महापाप है। बैठक में जल-जीवन मिशन की समीक्षा के दौरान बताया गया कि 146 गावों का प्रस्ताव बनाया जाना है, जिसमें 21 डी0पी0आर0 बनायी जानी है, जो दिसम्बर माह तक पूरा कर लिया जायेगा, जिस पर उपमुख्यमंत्री ने कहा कि जल जीवन मिशन के कार्यो में तेजी लायी जाय तथा ठीक प्रकार से कार्य न करने वाले ठेकेदार के विरूद्ध कार्यवाही की जाय। उन्होंने निर्माणाधीन पानी की टंकियों की समीक्षा के दौरान निर्देश दिये कि निर्माण कार्य में गुणवत्ता सुनिश्चित किया जाय, जिससे लीकेज की शिकायत न होने पाये।

उपमुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य व्यवस्थाओं की समीक्षा के दौरान मुख्य चिकित्साधिकारी को कोविड के नये वैरिएण्ट के दृष्टिगत सभी आवश्यक तैयारियॉ तथा कोविड-19 टीकाकरण की द्वितीय डोज में प्रगति लाये जाने हेतु मास्टर प्लॉन बनाकर कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जनपद में स्वास्थ्य सुविधाओं की बेहतर व्यवस्था हेतु रिक्त विशेषज्ञ चिकित्सकों के नियुक्ति के लिए आवश्यक कार्यवाहियॉ की जाय। उन्होंने निर्माणाधीन ट्रामा सेन्टर के कार्य को शीघ्र पूर्ण कराने के निर्देश सम्बन्धित कार्यदायी संस्था को दिये तथा सी0एम0ओ0 को ट्रामा सेंटर के शीघ्र संचालन हेतु कार्ययोजना तैयार करने के भी निर्देश दिये। उपमुख्यमंत्री ने निर्माणाधीन सड़कों की समीक्षा के दौरान अधिशासी अभियंता लो0नि0वि0 को नियमित निरीक्षण कराकर गुणवत्ता की जांच कराने के निर्देश देते हुए कहा कि गुणवत्ता ठीक न पाये जाने पर सम्बन्धित ठेकेदार के विरूद्ध कार्यवाही की जाय। उन्होंने सेतुओं के निर्माण की समीक्षा के दौरान कहा कि आ रही समस्याओं का समाधान कर निर्धारित समय में निर्माण कार्य पूर्ण किया जाय।

 उन्होंने अधिशासी अभियंता सिंचाई को निर्देशित किया कि नहरों मे टेल तक पानी पहुंचाना सुनिश्चित करें तथा आवश्यकतानुसार नहरों की पटरियों पर सड़कों के निर्माण हेतु सर्वे कराकर आवश्यक कार्यवाही की जाय। उन्होंने ससुर खदेरी नदी में पानी लाये जाने हेतु विस्तृत इस्टीमेट बनाकर एक सप्ताह केअन्दर उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।

Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन