फीस माफ़ी को लेकर जानलेवा प्रदर्शन


कानपुर। गूंगे अभिभावकों की आवाज बहरी सरकार को सुनाने के उद्देश्य से अखिल भारतीय पीड़ित अभिभावक महासंघ के अध्यक्ष राकेश मिश्रा ने कानपुर फूलबाग स्थित पानी की टंकी पर चढ़कर फीस माफी के मुद्दे पर प्रदर्शन किया। राकेश मिश्रा ने कहा कि लॉकडाउन से पूर्व निजी विद्यालय चोरी करते थे परंतु कोविड-19 के काल में ऑनलाइन शिक्षा देकर डकैती डाल रहे हैं। अभिभावकों का दल राकेश मिश्रा के समर्थन में ढपली,बैनर, प्ले कार्ड देकर जोरदार एवं उत्साही नारे लगा रहा था। जिसे पुलिस ने छीन कर जब्त कर, राकेश मिश्रा को गिरफ्तार कर लिया। राकेश मिश्रा ने पुलिस की जीप में बैठते ही नो स्कूल, नो फीस! फीस गले की फांसी है, जनता भूखी प्यासी है. योगी बाबा रहम करो, कुछ तो अच्छे कर्म करो। यह जो धांधा गर्दी है,उसके पीछे वर्दी है के नारे लगाने लगे।


राकेश मिश्रा ने उन्नाव के डॉक्टर विरेंद्र स्वरूप एजुकेशन सेंटर में कक्षा 10 में अध्ययनरत छात्र दिव्यांशु सिंह ने जो आत्महत्या की है उनका मानना है कि यह अप्रत्यक्ष रूप से स्कूल के प्रबंधक एवं प्रधानाचार्य द्वारा हत्या की गई है। 


 

 

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न