प्राविधिक शिक्षा परिषद की परीक्षा 25 सितम्बर से 12 अक्टूबर, 2020 तक आयोजित होंगी

लखनऊ। प्राविधिक शिक्षा परिषद द्वारा आयोजित सम सेमेस्टर (अंतिम सेमेस्टर)/वार्षिक परीक्षा (अंमित वर्ष)/बैक पेपर/विशेष बैक पेपर की परीक्षा 25 सितम्बर से 12 अक्टूबर, 2020 तक प्रदेश के निर्धारित 186 परीक्षा केन्द्रों पर संचालित हो रही है। इस परीक्षा में कुल 75000 परीक्षार्थी सम्मिलित हो रहे हैं।


प्राविधिक शिक्षा परिषद के सचिव डा0 आर.के.सिंह ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि डिजिटल इण्डिया भारत सरकार की पहल के क्रम में मुख्यमंत्री, योगी आदित्यनाथ की प्रेरणा तथा अपर मुख्य सचिव प्राविधिक शिक्षा एस0राधा चौहान के दिये गये निर्देशों एवं विशेष सचिव प्राविधिक शिक्षा सुनील कुमार चैधरी द्वारा लगातार की जा रही माॅनिटरिंग के दृष्टिगत सम सेमेस्टर (अंतिम सेमेस्टर)/वार्षिक परीक्षा (अंतिम वर्ष)/बैक पेपर/विशेष बैक पेपर परीक्षा सितम्बर-2020 के प्रश्नपत्रों का प्रथम बार डिजिटली रूप में (ऑनलाइन) संप्रेषण परीक्षा केन्द्रों पर सफलतापूर्वक किया गया।


श्री सिंह ने बताया कि परीक्षा केन्द्रों को ऑनलाइन प्रश्नपत्र संप्रेषित किये जाने की प्रक्रिया से भलीभांति परिचित कराने के लिए ए.के.टी.यू. लखनऊ के सहयोग से 08 मई, 2020 से लगातार माॅक टेस्ट की प्रक्रिया आयोजित की गयी। निदेशक प्राविधिक शिक्षा श्री मनोज कुमार की अध्यक्षता में क्षेत्रीय संयुक्त निदेशक एवं प्रधानाचार्यों की उपस्थिति में कई महत्वपूर्ण बैठकें आयोजित की गयी एवं ऑनलाइन प्रश्नपत्र संप्रेषण संबंधी महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश दिये गये। उन्होंने बताया कि ऑनलाइन प्रश्नपत्र संप्रेषण हेतु संस्थाओं में आवश्यक उपकरणों, साज-सज्जा एवं अन्य संसाधन की उपलब्धता सुनिश्चित कराने हेतु समय-समय पर निर्देश दिये गये ।


उन्होंने बताया कि प्रश्नपत्रों के ऑनलाइन संप्रेषण हेतु निर्धारित कुल 186 परीक्षा केन्द्रों में से 103 राजकीय, 18 अनुदानित एवं 65 निजी क्षेत्र की संस्थाओं  को परीक्षा केन्द्र निर्धारित किया गया है। निर्धारित परीक्षा केन्द्रों में से कतिपय परीक्षा केन्द्र जिला मुख्यालय से सुदूर स्थित हैं, बावजूद इसके परिषद् द्वारा संबंधित प्रधानाचार्यों से लगातार संपर्क कर समस्याओं के निराकरण कराने के प्रयास किये गये। अंततः ऐसे परीक्षा केन्द्रों पर भी आनलाइन प्रश्नपत्र संप्रेषण सफलतापूर्वक किया गया।


उन्होंने बताया कि कोविड-19 महामारी के दृष्टिगत पूर्व प्रक्रिया से प्रश्नपत्रों को परीक्षा केन्द्रों को हस्तगत कराया जाना उचित जान नहीं पड़ता था। ऐसी स्थिति में तकनीकी का प्रयोग कर सुरक्षा के दृष्टिकोण से प्रश्नपत्रों के आनलाइन संप्रेषण की कार्यवाही सफलतापूर्वक सम्पन्न की गयी, जिससे भारी मात्रा में राजस्व की बचत हुई, समय की बचत हुई, साथ ही साथ परीक्षा कार्य मंे लगे कार्मिकों को भी सुविधा प्राप्त हुई।


Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार