आंगनबाड़ी कार्यकत्री के माध्यम से लाभार्थियों को अनुपूरक पुष्टाहार किया जा रहा वितरित


लखनऊ। बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार उत्तर प्रदेश द्वारा अनुपूरक पुष्टाहार के लिए आंगनबाड़ी केन्द्रों के अन्तर्गत लाभार्थियों का सर्वे कराकर  पंजीकृत किया जाता है। आंगनबाड़ी केन्द्र पर पंजीकृत लाभार्थियों में से वास्तविक लाभार्थियों को अनुपूरक पुष्टाहार आंगनबाड़ी कार्यकत्री के माध्यम से दिया जाता है।


विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार 06 माह से 3 वर्ष तक की आयु के 82.99 लाख बच्चों को टेक-होम राशन के रूप में एनर्जी डेन्स वीनिंग फूड, एनर्जी डेन्स मीठा दलिया एवं एनर्जी डेन्स नमकीन दलिया उपलब्ध कराया जा रहा है। इसी प्रकार 03 वर्ष से 06 वर्ष तक की आयु के 41.19 लाख बच्चों को मार्निग स्नैक के रूप में एनर्जी डेन्स मीठा दलिया, एनर्जी डेन्स नमकीन दलिया एवं एनर्जी डेन्स लड्डू प्रीमिक्स तथा दोपहर में हॉट कुक्ड फूड उपलब्ध कराया जा रहा है। वही 35.47 लाख गर्भवती महिलाओं एवं धात्री माताओं को टेक-होम राशन के रूप में एनर्जी डेन्स मीठा दलिया, एनर्जी डेन्स नमकीन दलिया एवं एनर्जी डेन्स लड्डू प्रीमिक्स दिया जा रहा है।


वर्तमान में कोविड-19 के अन्तर्गत विभिन्न प्रदेश  व प्रदेश  के अन्य स्थानों से आये हुए कुल 31 जनपदों के प्रवासी श्रमिक परिवारों के विभिन्न श्रेणी के पात्र 99,645 लाभार्थियों को अनुपूरक पोषाहार से लाभान्वित किया जा रहा है। टेक होम राशन के वितरण की व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए प्रत्येक स्तर पर स्टॉक का सत्यापन एवं वितरण की व्यवस्था की गयी है। वर्तमान में कोविड-19 के अन्तर्गत निर्गत दिशा-निर्देशों के क्रम में आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों द्वारा सांसदों, विधायकोें, ग्राम प्रधान, ब्लॉक प्रमुख आदि जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में सोशल डिस्टेन्सिंग के नियमों का पालन करते हुए लाभार्थियों को डोर-टू-डोर पोषाहार वितरण किया जा रहा है।


Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

या देवी सर्वभू‍तेषु माँ गौरी रूपेण संस्थिता।  नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।

त्वमेव माता च पिता त्वमेव,त्वमेव बन्धुश्च सखा त्वमेव!