बालिका के जन्म के समय से लेकर डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश लेने तक योजना के माध्यम से मिलती है आर्थिक सहायता


लखनऊ। प्रदेश में समान लिगांनुपात स्थापित करने व कन्या भू्रण हत्या को रोकने, बालिकाओं के स्वास्थ्य व शिक्षा को सु्दृढ करने, बालिका के परिवार को आर्थिक सहायता प्रदान करने तथा बालिका के प्रति आम जन में सकारात्मक सोच विकसित करने हेतु मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा मार्च 2019 में मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना की घोषणा की गयी थी। यह योजना 01 अप्रैल 2019 से प्रदेश में लागू हो गयी है। योजना के संचालन हेतु वेब पोर्टल mksy.up.gov.in का विकास किया गया है। योजना के अन्तर्गत देय धनराशि पी0एफ0एम0एस0 के माध्यम से  सीधे लाभार्थियों के बैंक खाते में हस्तान्तिरित की जा रही है।


योजना के अन्तर्गत मुख्यतः ऐसे लाभार्थी पात्र होते हैं जिनका परिवार उत्तर प्रदेश का निवासी हो, पारिवार की वार्षिक आय अधिकतम  3.00 लाख रूपये तथा जिनके परिवार में अधिकतम् दो बच्चे हों। इस योजना के अन्तर्गत बालिकाओं के जन्म के समय  2000 रूपये एक वर्ष के टीकाकरण पूर्ण करने पर  1000 रूपये , कक्षा-01 में प्रवेश के समय 2000 रूपये,  कक्षा-06 में प्रवेश के समय  2000 रूपये, कक्षा-09 में प्रवेश के समय 3000 रूपये तथा दसवीं एवं बारहवीं परीक्षा उत्तीर्ण कर डिग्री या दो वर्षीय या अधिक समय के डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश लेने पर रू0 5000/- एकमुश्त प्रदान किये जाते हैं। इस योजना के अन्तर्गत अब तक 4.76 लाख लाभार्थियों को लाभान्वित किया गया है।


Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार