मुख्यमंत्री ने आयनॉक्स ऑक्सीजन प्लाण्ट का वर्चुअल माध्यम से किया शुभारम्भ


लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने सरकारी आवास पर मोदी नगर मेें प्रदेश के सबसे बड़े आयनाॅक्स ऑक्सीजन प्लाण्ट का वर्चुअल माध्यम से शुभारम्भ किया। उल्लेखनीय है कि आज प्रधानमंत्री ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई के लिए एक जन आन्दोलन अभियान की शुरुआत की है। जिसके तहत कोरोना पर प्रभावी नियंत्रण के लिए जनभागीदारी द्वारा व्यवहार परिवर्तन तथा हैण्ड वाॅश, सोशल डिस्टेसिंग, मास्क के उपयोग के सम्बन्ध में जागरुकता बढ़ाने का कार्य सुनिश्चित होगा। इससे लोगों को कोविड-19 के दृष्टिगत प्रोटोकाॅल को अपने जीवन का हिस्सा बनाने में मदद मिलेगी। इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आयनाॅक्स ग्रुप के पदाधिकारियों से संवाद भी किया।


मुख्यमंत्री ने कहा कि केन्द्र व प्रदेश सरकार कोरोना नियन्त्रण हेतु लगातार प्रयासरत है। इन प्रयासों का परिणाम है कि कोरोना की दर में निरन्तर कम हुई है। उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी कोविड-19 के दौरान प्रदेश सहित पूरे देश में ऑक्सीजन की मांग बढ़ी है। क्योंकि कोविड मरीजों के लिए ऑक्सीजन की ज्यादा जरूरत होती है। उन्होंने कहा कि डिमाण्ड के अनुरूप सप्लाई प्रदेश सरकार के लिए एक चुनौती थी। प्लाण्ट के शुभारम्भ होने से इस चुनौती को पार पाने में सफलता मिलेगी। उन्होंने कहा कि इस प्लाण्ट के आरम्भ होने से उत्तर प्रदेश, इण्डस्ट्रियल एवं मेडिकल ऑक्सीजन के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनेगा।


मुख्यमंत्री ने कहा कि INOX Air Products द्वारा राज्य सरकार के साथ फरवरी, 2018 में इन्वेस्टर्स समिट के दौरान मोदी नगर, गाजियाबाद में Ultra-High Purity Cryogenic Oxygen Plant की स्थापना हेतु MOU किया गया था। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने पिछले 03 वर्षाें में निवेश का एक बेहतर माहौल तैयार किया है। जिसका परिणाम है कि प्रदेश में काफी निवेशक आ रहे हैं। ‘ईज ऑफ़ डूईंग बिजनेस’ में उत्तर प्रदेश दूसरे स्थान पर है। निवेश संभावनाओं की दृष्टि से उत्तर प्रदेश देश में एक महत्वपूर्ण केन्द्र बन गया है। निवेश उत्तर प्रदेश के विकास व युवाओं के लिए एक माध्यम बना है। इसके साथ ही, देश और दुनिया के सामने प्रदेश की एक बेहतर छवि सामने आयी है। निवेशको की संतुष्टि ही वर्तमान सरकार की पूंजी है। मुख्यमंत्री ने खुशी जाहिर की कि आयनाॅक्स ग्रुप आने वाले दिनों में मध्यांचल में भी ऑक्सीजन का एक प्लाण्ट लगाएगी।


प्रधानमंत्री मोदी के कुशल नेतृत्व एवं मार्गदर्शन में राज्य सरकार कोविड-19 पर नियंत्रण के सक्रिय प्रयास कर रही है। इन प्रयासों से संक्रमण को नियंत्रित करने में सफलता मिली है। विगत कुछ दिनों में कोविड संक्रमण की दर में कमी भी आयी है। जब तक कोरोना की कोई वैक्सीन या उपचार नहीं आ जाता, तब तक इसके संक्रमण से बचाव ही एक मात्र उपाय है। मोदी नगर में नवस्थापित यह ऑक्सीजन प्लाण्ट वर्तमान में कोविड-19 संक्रमण के विरुद्ध संघर्ष में सहायक होगा। राज्य सरकार द्वारा कोविड संक्रमण के पिछले लगभग 6 महीनों के दौरान चिकित्सा व्यवस्था को सुदृढ़ किया गया है।


ज्ञातव्य है कि इस प्लाण्ट की कुल क्षमता 150 टन प्रति दिन लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन (LMO) उत्पादित करने की है। यह प्रदेश का सबसे बड़ा ऑक्सीजन प्लाण्ट है। प्लाण्ट में 1000 मीट्रिक टन लिक्विड ऑक्सीजन भण्डारण करने की भी क्षमता है। प्लाण्ट द्वारा प्रदेश के करीब 200 सरकारी व निजी क्षेत्र के अस्पतालों को ऑक्सीजन सप्लाई की जाएगी। चिकित्सा क्षेत्र के अतिरिक्त ऑक्सीजन का प्रयोग अन्य उद्योगों जैसे-फार्मा एवं केमिकल, इलेक्ट्राॅनिक मैनुफैक्चरिंग आदि में भी किया जाएगा।


 


Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न