राजनीति में वंचित वर्गों की अवाज थे रामविलास पासवान - नैमिष प्रताप सिंह


लखनऊ : समाज के वंचित - शोषित वर्गों के लिए अपने राजनीतिक जीवन के शुरुवाती दौर से लेकर अंतिम क्षण तक संघर्ष करने वाले भारत सरकार में उपभोक्ता मामलों के केन्द्रीय   मंत्री रामविलास पासवान के निधन से एक एैसा शून्य उभर आया है जिसकी भरपायी करना बेहद मुश्किल है. यह वकतव्य लोकशक्ति अभियान ' एक स्वैच्छिक संगठन ' के राष्ट्रीय अध्यक्ष व 36 रायबरेली लोकसभा क्षेत्र से  पूर्व स्वतंत्र प्रत्याशी नैमिष प्रताप सिंह ने इस संवाददाता से बातचीत में व्यक्त किया. उन्होंने कहा कि रामविलास जी राजनीति में दलितों सहित समाज के निचले पायदान पर खड़े अन्य समाज की आवाज थे लेकिन उनकी बोली - भाषा व कार्यशैली एैसी थी जिसने उनको सवर्ण समाज में भी लोकप्रिय बनाया.


लोकशक्ति अभियान के राष्ट्रीय अध्यक्ष नैमिष प्रताप  सिंह ने यह भी बताया कि 05 जुलाई 1946 को बिहार के खगड़िया में जन्में रामविलास जी हाजीपुर लोकसभा क्षेत्र से कई बार सांसद निर्वाचित हुए. उनको छह प्रधानमंत्रियों के साथ कार्य करने का अवसर मिला. उन्होंने कहा कि एैसे समय में जब राजनीति में घृणा - द्वेष चरम पर है तब रामविलास जी जैसे सर्वसमावेशी व्यक्तित्व की प्रासंगिकता बढ़ जाती है. नैमिष प्रताप सिंह ने एलजेपी नेता के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए उनके परिवार , पार्टी नेताओं - कार्यकर्ताओं व समर्थकों के प्रति हार्दिक संवेदना प्रगट किया.   
  
#  नैमिष प्रताप सिंह , पूर्व स्वतंत्र प्रत्याशी : 36 रायबरेली लोकसभा क्षेत्र से जितेन्द्र झा से हुई बातचीत पर आधारित


Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न