सेना में भर्ती एवं मेडिकल में अनफिट अभ्यर्थियों को पास कराने वाले रैकेट के मुख्य सरगना को एसटीएफ ने किया गिरफ्तार


प्रयागराज। एसटीएफ उ0प्र0 को फर्जी  तरीके से सेना में भर्ती एवं मेडिकल में अनफिट अभ्यर्थियों को पास कराने वाले रैकेट के मुख्य सरगना व मु0अ0सं0-35/2020 धारा-419/420/भादवि व 7/13 भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम, थाना सिविल लाइन, जनपद प्रयागराज में वांछित अभियुक्त मुलायम सिंह यादव उर्फ अजय उर्फ सोनू, पुत्र राम अभिलाश यादव, निवासी ग्राम शाखा पो0 शाखा, थाना सैनी, जनपद कौशाम्बी को जनपद प्रयागराज के कर्नलगंज थाना क्षेत्र से गिरफ्तार करने में उल्लेखनीय सफलता प्राप्त हुई है। गिरफ्तार अभियुक्त के पास से 01 अदद मोबाइल, 01 अदद मोटरसाईकिल बुलेट एवं 1200/- रूपया नकद बरामद किया गया।


अभियुक्त मुलायम सिंह यादव ने पूछताछ करने पर बताया कि वह सेना में वर्ष 2003 में जी0डी0 कान्सटेबल के पद पर जनपद प्रयागराज से भर्ती हुआ। वर्तमान में वह माह अप्रैल 2020 में सेवानिवृत्त होकर वापस आ गया है। अपनी नौकरी के दौरान वह ए0एम0सी0 बेस हास्पिटल, लखनऊ में नर्सिंग असिस्टेन्ट के पद पर कार्यरत पवन उर्फ स्वप्निल सूर्यवंषी के सम्पर्क में आया, जो सेना में पूर्व से रूपये लेकर फर्जी  भर्ती कराने का कार्य करता था, जिसको मेरे द्वारा अपने मामा के लड़के मनीष सिंह यादव से परिचय कराया गया। मेरी दूरस्थ पोस्टिंग होने एवं छुट्टी न मिलने के कारण सेना में ही कार्यरत अपने दो दोस्त प्रदीप सिंह यादव व संजय कुमार पाण्डेय का परिचय भी मैंने अपने मामा के लड़के मनीष सिंह यादव से करा दिया और बताया कि यह दोनों भी मेरे काफी विष्वसनीय हैं और इस काम में हम लोगों का साथ देंगे। इस लिए हम सभी लोग मिलकर भर्ती करवाने के लिए मनीष, प्रदीप सिंह यादव व संजय पाण्डेय के माध्यम से इच्छुक अभ्यर्थियों की तलाश करते हैं और भर्ती करवाकर उनसे मोटी रकम वसूलते हैं। मेडिकल में पास कराने का रेट 60,000/- रूपये प्रति अभ्यर्थी और पूरा भर्ती कराने का रेट 02 से 2.5 लाख रूपये लेते हैं। भर्ती होने के इच्छुक अभ्यर्थियों के हाईस्कूल व इंटरमीडिएट आदि के सर्टिफिकेट्स प्लान के मुताबिक हम लोग अपने पास रख लेते हैं तथा अभ्यर्थियों से लिए गए उनके असली डाक्यूमेंटस को व्हाट्सएप के जरिए मनीष और प्रदीप सिंह यादव मुझे भेज देते थे , जिन्हें मैं पवन उपरोक्त को भेज देता था। आगे मेडिकल आदि पास कराने का काम पवन उर्फ स्वप्निल सूर्यवंषी द्वारा किया जाता था। मनीष तथा प्रदीप सिंह यादव ने अभ्यर्थियों से भर्ती कराने के एवज में लिए गए पैसों को दो बार में 25 लाख रूपये मेरे कहने पर चारबाग स्टेशन पर पवन उर्फ स्वप्निल उपरोक्त को दिया था। मेरा सम्पर्क मिलिट्री हास्पिटल, इलाहाबाद, लखनऊ, वाराणसी, मेरठ आदि में काम करने वाले कई सैन्य/सिविल अधिकारियों एवं कर्म चारियों से है।


गिरफ्तार अभियुक्त ने बताया कि सभी अभ्यर्थियों से फर्जी  भर्ती व मेडिकल में अनफिट अभ्यर्थियों से फर्जी  भर्ती कराने के एवज में पैसे वसूल कर मनीष एवं प्रदीप यादव मुझे देते थे और भर्ती कराने के एवज में मिले पैसों को मैं सबके काम के हिसाब से आपस में बांट देता था।


गिरफ्तार अभियुक्त के आपराधिक इतिहास के सम्बन्ध में जानकारी की जा रही है। उक्त अभियुक्त को थाना कर्नलगंज, जनपद प्रयागराज में मु0अ0सं0-35/2020 धारा-419/420 भादवि व 7/13 भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम में दाखिल किया गया है। अग्रिम कार्यवाही क्षेत्राधिकारी कर्नलगंज, जनपद प्रयागराज द्वारा की जा रही है। 


Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार