ऐतिहासिक गुरुद्वारा नाका हिण्डोला में 551वां प्रकाश पर्व श्रद्धा के साथ मनाया गया


लखनऊ। साहिब श्री गुरुनानक देव जी महाराज के 551वाँ प्रकाश पर्व (जन्मोत्सव) पर शाम का विशेष दीवान श्री गुरु सिंह सभा ऐतिहासिक गुरुद्वारा नाका हिण्डोला, लखनऊ में सजाया गया। प्रातः से ही गुरुद्वारा साहिब में पुरुषों, महिलाओं एवं बच्चों द्वारा वाहिगुरु के जाप एवं प्रार्थना करने की सेवा शुरु हुईं।



शाम का दीवान सांय 6.00 बजे से रहिरास साहिब के पाठ आरम्भ हुआ जो रात्रि 9.30 बजे तक चला जिसमें हजूरी रागी भाई राजिन्दर सिंह शबद कीर्तन गायन कर संगत को निहाल किया। सुखमनी साहिब सेवा सोसाइटी एवं बीबी कौलां भलाई केन्द्र के सदस्यों ने गुरुनानक की बाणी का कीर्तन एवं नाम सिमरन-साधना करवाकर संगत को प्रभु भक्ति से जोड़ा।



लखनऊ गुरुद्वारा प्रबन्धक कमेटी के अध्यक्ष राजेन्द्र सिंह बग्गा ने सभी को गुरुनानक देव जी महाराज के प्रकाशोत्सव की शुभकामनाएं दी एवं सभी के उत्तम स्वास्थय की कामना की। शाम के दीवान की समाप्ति के उपरान्त गुरु का प्रसाद हरमिन्दर सिंह टीटू एवं हरविन्दरपाल सिंह नीटा की देखरेख में वितरित किया गया।



प्रातः 6.00 बजे से दोपहर 2.30 बजे तक गुरुनानक देव जी के प्रकाश पर्व को समर्पित रख संगत के द्वारा किये गये सहज पाठ के दीवान हाल में सामूहिक रुप सेे समापन के उपरान्त गुरबाणी कीर्तन गुरु नानक के जीवन पर आधारित इतिहासिक कथा के कार्यक्रम शुरू किया गया। जिसमें मुख्य ग्रन्थी ज्ञानी सुखदेव सिंह रागी जत्था भाई राजिन्दर सिंह एवं कथावाचक ज्ञानी हरविन्दर सिंह ने शिरकत किया ।



गुरु का प्रसाद भी श्रद्धालुओं में वितरित किया गया। प्रकाश पर्व को समर्पित संगत गुरबाणी कीर्तन का गायन करके प्रभु की आराधना करते प्रभात फेरी का समापन बोले सो निहाल के जैकारों के साथ गुरुद्वारा साहिब में किया गया। 


Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न