केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने कोविड-19 के दौरान शिक्षा विभाग द्वारा की गई पहलों का किया संग्रहण


केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने आज नई दिल्ली में वर्चुअल माध्यम से कोविड-19 महामारी के दौरान स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा की गई विभिन्न पहलों का एक संकलन जारी किया। वर्ष 2020-21 में कोविड-19 महामारी ने एक अभूतपूर्व सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल की स्थिति पैदा कर दी है, जिससे विश्व के लगभग सभी देश और क्षेत्र प्रभावित हुए हैं।


उन्होंने कहा कि, कोविड महामारी ने सामान्य जीवन में गंभीर व्यवधान उतपन्न कर दिए हैं और इसने बच्चों को काफी प्रभावित किया है तथा इसकी वजह से देश भर के स्कूलों को बंद भी करना पड़ा है। संकलन जारी करने के अवसर पोखरियाल ने इस बात पर प्रकाश डाला किस्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग ने कई पहलें की है। इनमें प्रधानमंत्री ई-विद्या, प्रज्ञाता दिशा-निर्देश, मनो-सामाजिक समर्थन के लिए मनोदर्पण, ई-कंटेंट और वैकल्पिक शैक्षणिक कैलेंडर शामिल हैं। जिससे छात्रों का स्कूल जाना सुनिश्चित हो सके और वे कोविड-19 महामारी के दौरान अपनी पढाई में पिछड़ने न पाएं।


उन्‍होंने इस बात पर प्रसन्‍नता जाहिर की किइन पहलों ने महामारी के प्रभाव को कम करने में भी महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाई है। मंत्रालय अब तक के पढ़ाने और सीखने के तरीके को फिर से तैयार करने और वर्तमान कोविड चुनौतियों के दौरान भी अध्ययन जारी रखने के कई उपायों के साथ आगे आया है। केंद्रीय मंत्री ने घर पर ही स्कूली शिक्षा के स्वस्थ मिश्रण के माध्यम से गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने के कई नए उपयुक्त तरीकों को पेश करने के मंत्रालय के अधिकारियों के प्रयासों की सराहना की।


Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न