अखिलेश यादव ने संत गाडगे बाबा की 64वीं पुण्यतिथि पर किया माल्यार्पण

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज पार्टी मुख्यालय, लखनऊ में संत गाडगे बाबा की 64वीं पुण्यतिथि पर उनके चित्र पर माल्यार्पण किया। उन्होंने बाबा के समाज सुधार आंदोलन से प्रेरणा लेने को कहा। अंधविश्वास और कुरीतियों के विरोध के साथ शिक्षा, स्वच्छता और लोक शिक्षण की दिशा में उनके अप्रतिम योगदान के अनुकरण पर भी उन्होंने बल दिया।

अखिलेश यादव ने कहा कि संत गाडगे निष्काम कर्मयोगी थे। उन्होंने महाराष्ट्र के कोने-कोने में अनेक धर्मशालाएं, गौशालाएं, विद्यालय, चिकित्सालय तथा छात्रावासों का निर्माण कराया। यह सब उन्होंने लोगों से भीख मांगकर बनाया किन्तु अपने लिए एक कुटिया तक नहीं बनवाई। संत गाडगे दिवस पर सैकड़ों कार्यकर्ताओं के बीच यादव ने कहा कि निर्दोषों को फंसाना भाजपा का एजेण्डा है। भाजपा मुख्यमंत्री को विपक्षी नेताओं का उत्पीड़न करके खासतौर पर खुशी मिलती है। भाजपा षडयंत्र में लगी है।

मोहम्मद आजम खां को झूठे मुकदमों में फंसाया गया है। यादव ने कहा कि उन्हें न्यायालय पर भरोसा है। मोहम्मद आजम खां ने रामपुर में मोहम्मद अली जौहर विश्वविद्यालय की स्थापना की। गरीब बच्चों को उच्च शिक्षा तक दिलाने की व्यवस्था की। जनपद में तमाम विकास कार्य किये। यहां तक कि कुम्भ मेला की सुचारू व्यवस्था के लिए विदेशियों और साधु-संतो ने भी उनकी प्रशंसा की। आजम साहब सामाजिक सद्भाव के पैरोकार रहे है। सरकार जानबूझकर बदले की भावना से न केवल मोहम्मद आजम खां अपितु उनकी पत्नी और बेटा के खिलाफ फर्जी मुकदमें लगाए जा रही है। जेल में उन्हें यातना दी जा रही है। समाजवादी पार्टी उनके पक्ष में निरंतर आवाज उठाती रही है।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार