भाजपा सरकार जुल्म भी करती है और कराहने भी नहीं देती- अखिलेश यादव

लखनऊ समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा सरकार जुल्म भी करती है और कराहने भी नहीं देती है। नोटबंदी, जीएसटी, कृषि विधेयक से लोग बेहाल हैं पर सरकार अपनी हठधर्मी और अहंकार में चूर कुछ भी सुनने को तैयार नहीं है। रोज-रोज वह विकास और काम का नाटक करती है, जबकि सच्चाई यह है कि भाजपा काम के अलावा सब कुछ कर सकती है। भाजपा सरकार की साजिशों से सावधान रहना होगा।

अखिलेश यादव आज पार्टी मुख्यालय, लखनऊ में इण्डियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के सीडा, सतहरिया औद्योगिक क्षेत्र जौनपुर के उद्यमियों को सम्बोधित कर रहे थे। यह सूक्ष्म, मध्यम उद्योगों से सम्बंधित उद्यमियों की संस्था है। यादव ने कहा कि छोटे, मंझोले उद्योग बेकारी दूर करने में मददगार हो सकते हैं लेकिन भाजपा सरकार की नीयत साफ नहीं है। उद्यमियों द्वारा जोखिम उठाने के बाद भी उन्हें उन्हें अपमान झेलना पड़ता है। भाजपा सरकार उद्यमियों को धमकी देती है, उनका उत्पीड़न किया जाता है। एक अच्छी व्यवस्था सरकारी भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गई है।

यादव ने कहा कि भाजपा राज में बेरोजगारी असीमित रूप से बढ़ी है। उद्योग के लिए अत्यावश्यक विद्युत के लिए भाजपा सरकार ने बिजलीघर नहीं बनाए हैं। इस सरकार में एक यूनिट बिजली का उत्पादन नहीं हुआ। बैंक कर्ज नहीं दे रहे हैं, कानून व्यवस्था ध्वस्त है। छोटे उद्यमियों को सुरक्षा, सम्मान और राहत देने के बजाय भाजपा सरकार कारपोरेट को ही संरक्षण दे रही है। 20 लाख करोड़ के पैकेज का बड़ा प्रचार हुआ पर उत्तर प्रदेश को क्या मिला? कोई इस प्रदेश में इन हालात में उद्योग लगाने क्यों आएगा?

अखिलेश यादव ने कहा कि पूर्वांचल में औद्योगिक विकास के लिए भाजपा सरकार कोई ठोस योजना नहीं बना पाई है। मेडिकल सुविधाओं का विस्तार नहीं हो सका। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे जैसी सड़क नहीं बन सकी। समाजवादी सरकार में यूपी डायल 100 नम्बर से लोगों का घर बैठे काम हो रहा था, भाजपा सरकार ने उसे 112 नम्बर कर दिया पर यह सेवा काम ही नहीं करती है। ऐसे में अपराध कैसे रूकेंगे?

यादव ने कहा कि सन् 2022 में समाजवादी सरकार बनने पर उद्यमियों की सभी समस्याओं का समाधान हो जाएगा। उन्हें तमाम सुविधाएं दी जाएगी ताकि तेजी से औद्योगिक विकास हो सके। श्रमिकों की खुशहाली के लिए सुविधाएं सुनिश्चित होंगी। राज्य में ग्रोथ, नौकरी और विकास होगा। उन्होंने प्रगतिशील विचार मानने वालों को सजग रहने को कहा क्योंकि भाजपा सरकार छलकपट और नफरत फैलाने में माहिर है। इतनी खराब सरकार कभी नहीं आई।

इण्डियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के अध्यक्ष बृजेश ने संस्था के सम्बंध में परिचय दिया जबकि उपाध्यक्ष मनमोहन अग्रवाल ने रिपोर्ट पेश की। बृजेश यादव ने मांग की कि सीड़ा सतहरिया औद्योगिक क्षेत्र फ्रीहोल्ड हों, केन्द्रीय विद्यालय खोला जाए। सतहरिया औद्योगिक क्षेत्र का विस्तार किया जाए, ट्रांसफर लेवी चार्ज 15 प्रतिशत से घटाकर 5 प्रतिशत हो, उद्योग लगाने के लिए कैपिटल सब्सिडी देना बहाल करें तथा मुगराबादशाहपुर रेलवे स्टेशन पर नीलांचल और गरीब रथ एक्सप्रेस गाड़ियां रोकने की व्यवस्था हो।

जौनपुर से आए उद्यमियों ने भरोसा जताया कि उन्हें समाजवादी सरकार में ही सम्मान और सुविधाएं मिल सकेंगी उनकी समस्याओं का समय से निदान भी हो जाएगा। उन्होंने कहा कि समाजवादी सरकार में ही उन्हें सुविधाएं और सम्मान मिला था। सोलर एनर्जी पर टैक्स माफ किया गया था। यूपी में बिजली की खपत ज्यादा है परन्तु पर्याप्त उत्पादन नहीं है। विद्युत दरें दूसरे राज्यों से ज्यादा यूपी में है। उद्यमियों ने कहा कि उन सबको अखिलेश यादव से ही उम्मीद है।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न