सरकार और कितने किसानों की बलि लेना चाहती है?- अजय कुमार लल्लू

 

लखनऊ उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने भारतीय जनता पार्टी की केंद्र व राज्य सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि यह सरकार किसानों के अधिकारों पर डाका डालकर उनके विरुद्ध गहरी साजिश कर रही है। आन्दोलनकारी दर्जनों अन्नदाताओं की कुर्बानियों के बाद भी जो सल्तनत अपने काले कानून को वापस लेने को तैयार नहीं है इससे समझा जा सकता है, कि उसकी सभी मानवीय संवेदनाएं मृत हो चुकी हैं। भाजपा सरकार द्वारा लाये गये किसान विरोधी तीनों काले कानून न तो कृषि के लिए कल्याणकारी है और न ही किसानों के पक्ष में है बल्कि यह तीनों कृषि कानून चंद उद्योगपति मित्रों के हित में किसानों के हक पर डाका डालने के लिए लायी गयी है। 

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार किसानों के प्रति संवेदनहीनता की सारी सीमाएं लांघकर लगातार उनके साथ क्रूर मजाक कर रही है। सरकार की हठधर्मिता और तानाशाहीपूर्ण रवैये के चलते बेहद ठंड में किसान खुले आसमान के नीचे धरना देने को विवश है। अनेक किसानों की दुःखद मौत व सन्त राम सिंह द्वारा किसान विरोधी काले कानून के विरूद्ध आत्महत्या के बाद भी उसकी आंखें नहीं खुलना यह स्पष्ट करता है कि तीनों कृषि कानून वापस न लेने के पीछे केन्द्र सरकार पर उद्योगपति मित्रों का बड़ा दबाव है। अजय कुमार लल्लू ने पूछा है कि सरकार और कितने किसानों की बलि लेना चाहती है? वह किसानों का कितना उत्पीड़न करना चाहती है यह बताये? 


प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि यह कितना क्रूर और निन्दनीय विषय है कि उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की पुलिस ने किसान आंदोलन में शामिल होने जा रहे सम्भल के 26 किसानों पर देशद्रोह का मुकदमा पंजीकृत कर उनको 50-50 लाख का जुर्माना भरने का नोटिस थमा दिया। जब यह नोटिस किसानों को प्राप्त हुआ और मीडिया में चर्चा हुई तो स्थानीय प्रशासन ने कहा कि 50 लाख नहीं मात्र 50 हजार का जुर्माना लगाया गया है, नोटिस में जुर्माना राशि भरने में चूक हुई है। लोकतांत्रिक व्यवस्था में अपने अधिकारों के लिये शांतिपूर्ण आंदोलन करना प्रत्येक भारतीय नागरिक का संवैधानिक अधिकार है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि निर्ममता व क्रूरता की सीमाएं लांघ रही योगी सरकार किसानों के प्रति दमनकारी रवैया अपनाकर आंदोलनकारियों के विरुद्ध जो उत्पीड़नात्मक कार्यवाही कर रही है उसकी कांग्रेस निंदा करती है और सम्भल के किसानों पर दर्ज कराए गए मुकदमों व जुर्माने की नोटिस वापस लेने की मांग करती है।

Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

या देवी सर्वभू‍तेषु माँ गौरी रूपेण संस्थिता।  नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।

!!कर्षति आकर्षति इति कृष्णः!! कृष्ण को समझना है तो जरूर पढ़ें