अपनी अनियमितताओं की जांच कराने के लिए तैयार रहे भाजपा- अखिलेश यादव

लखनऊ समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में सन् 2022 में लोकतंत्र की आखिरी लड़ाई लड़ी जानी है। जनता पर भरोसा है कि वह लोकतंत्र को न कमजोर होने देगी, न मरने देगी। सत्ता में खतरनाक लोग हैं। लोकतंत्र, सामाजिक सद्भाव और समाजवादी व्यवस्था से भाजपा का कोई वास्ता नहीं है। भाजपा की कुनीतियों से ऊबी जनता समाजवादी पार्टी की सरकार बनाना चाहती है। भाजपा अब सरकार में अपनी अनियमितताओं की जांच कराने के लिए तैयार रहे।

अखिलेश यादव आज किसानों के संघर्ष के समर्थन में शांतिपूर्ण धरने के दौरान पुलिस द्वारा लाठीचार्ज में घायल और जेल भेजे गए समाजवादी नेताओं-कार्यकर्ताओं के अभिनंदन के अवसर पर उन्हें सम्बोधित कर रहे थे। 14 दिसम्बर 2020 को संघर्षरत किसानों के समर्थन में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देश पर जब समाजवादी लखनऊ में धरना दे रहे थे, तब पुलिस ने भाजपा सरकार के इशारे पर पहले बर्बरता से लाठीचार्ज किया जिसमें कई घायल हो गए। पुलिस ने जबरन महिलाओं और दिव्यांगों की भी गिरफ्तारी की। जेल यात्रियों के साथ जेल में अपमान जनक व्यवहार किया गया। समाजवादी पार्टी ने आज उनका सम्मान किया। 

अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी नेतृत्व ने आजादी की लड़ाई और आजाद भारत में भी जनहित के मुद्दों पर सरकार को घेरा और संघर्ष किया है। जेल यातना से समाजवादी झुकते नहीं है। पुलिस की बैरीकेडिंग और आंसू गैस, लाठीचार्ज से लोकतंत्र के कारवां को रोका नहीं जा सकता है। समाजवादी पार्टी का इतिहास अन्याय के विरूद्ध संघर्ष का रहा है। भाजपा ने अपने कृत्यों से लोकतंत्र का गला घोंटा है। भाजपा सरकार ने देश की अर्थव्यवस्था को चौपट किया है। भाजपा कोई काम नहीं कर सकती है। भाजपा काम करने में नहीं काम बिगाड़ने में विश्वास रखती है। 

भाजपा को किसान कभी माफ नहीं करेंगे। वह चंद हाथों में पूरी व्यवस्था सौंपने की साजिश कर रही है। बेरोजगारी डरावनी हो गई है। मजदूरों के पलायन से दुनिया भर में भारत की बदनामी हुई है। समाजवादियों को झूठों से निबटना है। भाजपा का झूठ का विश्व रिकार्ड है। समाजवादियों ने पूरी जिम्मेदारी से राजनीतिक व्यवहार किया है। छह दिन की जेल यातना सहे समाजवादियों ने बताया कि पुलिस के संवदेनशून्य व्यवहार से उनका मनोबल और मजबूत हुआ है और 2022 के लिए सभी ज्यादा उत्साहित हुए है। भाजपा का हर कार्यकर्ता और नेता किसानों के शोषण और उत्पीड़न के विरूद्ध है। उन्होंने कहा कि भाजपा यह न समझे कि वह लोकतंत्र को कैद कर सकती है। जेल से भी आवाज आ रही है कि सन्2022 में साइकिल की सरकार बनेगी। जेलयात्रियों ने संकल्प लिया कि विधानसभा चुनाव में प्रत्येक बूथ पर जी-जान से जुटेंगे।

Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

या देवी सर्वभू‍तेषु माँ गौरी रूपेण संस्थिता।  नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।

!!कर्षति आकर्षति इति कृष्णः!! कृष्ण को समझना है तो जरूर पढ़ें