लखनऊ के प्रभारी मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने शासन की प्राथमिकता एवं विकास कार्यक्रमों को लेकर की समीक्षा

लखनऊ। प्रदेश के वित्त, संसदीय कार्य एवं चिकित्सा शिक्षा तथा जनपद लखनऊ के प्रभारी मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने आज यहां कलेक्ट्रेट स्थित डा0 ए0पी0जे0 अब्दुल कलाम सभागार में शासन की प्राथमिकता एवं विकास कार्यक्रमों तथा नगर विकास योजना के अन्र्तगत जनपद में संचालित विभिन्न योजनाओं की समीक्षा की। जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश, नगर आयुक्त अजय कुमार द्विवेदी, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व, अपर जिलाधिकारी आपूर्ति प्रशासन सहित अन्य सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

प्रभारी मंत्री ने जनपद में अमृत योजना की समीक्षा करते हुए पाया कि योजना के अन्तर्गत वर्ष 2020-21 में 197.53 करोड़ रूपये के सापेक्ष 109.72 करोड़ रूपये की धनराशि अवमुक्त की गई है, जिसके सापेक्ष 50.99 करोड़ रूपये की धनराशि व्यय की गयी। इस पर मंत्री ने अप्रसन्नता व्यक्त करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिये कि अमृत योजना के अन्र्तगत चल रहे कार्यों को अविलम्ब पूरा किया जाये। साथ ही कराये जा रहे कार्यों की पाक्षिक समीक्षा भी की जाये, जिससे कार्य में गति लायी जा सके। 


उन्होंने स्मार्ट सिटी की समीक्षा में पाया कि 382 करोड़ रूपये की धनराशि में से 221.29 करोड़ रूपये की धनराशि व्यय की जा चुकी है। उन्होंने शेष कार्यों को शीघ्र पूरा किये जाने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये। सालिड वेस्ट मैनेजमेन्ट के अन्र्तगत सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये कि सभी वार्डों में नियमित रूप से कूड़े का कलेक्शन कराया जाये। उन्होंने कहा कि 04 जनवरी 2021 से स्वच्छता सर्वेक्षण का कार्य प्रारम्भ हो रहा है। इसके लिए लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से नगर के प्रमुख चैराहों पर डिसप्ले बोर्ड लगवाये। उन्होंने स्वच्छता प्रोत्साहन समितियों को क्रियाशील किये जाने के भी निर्देश दिये।

खन्ना ने प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) की समीक्षा करते हुये पाया कि 51155 आवासों की स्वीकृति के सापेक्ष सूडा द्वारा शत् प्रतिशत लक्ष्य की प्राप्त की गई। पंचायती राज विभाग की सामुदायिक शौचालय निर्माण योजना के अन्तर्गत जनपद की 494 ग्राम पंचायतों में स्थल चयन कर लिया गया है, जिसमें से 61 प्लिंथ, 71 छत तथा 135 प्लास्टर स्तर पर निर्माणाधीन है तथा 227 निर्मित किये जा चुके है। आपरेशन कायाकल्प के अन्र्तगत 249 के सापेक्ष 213 पंचायत भवनों का अनुरक्षण कराया गया। 862 के सापेक्ष 653 प्राथमिक/उच्च प्राथमिक विद्यालय, 236 के सापेक्ष 193 आंगनवाड़ी/ए0एन0एम0 सेंटर  का कायाकल्प कराया गया। विद्युतिकरण योजना के अन्तर्गत 1014 मजरों के 7800 कनेक्शन  के सापेक्ष शत प्रतिशत लक्ष्य की प्राप्ति की गई।

प्रभारी मंत्री ने शादी अनुदान की समीक्षा करते हुए पाया कि 65 के सापेक्ष 63 शादियां करायी गई। सामूहिक विवाह योजना के अन्तर्गत 532 आवेदन पत्र प्राप्त हुए जिसमें से 99 प्रार्थना पत्र का निस्तारण कर दिया गया है। 433 आवेदन पत्र लम्बित हैं, जिस पर उन्होंने कहा कि एक तिथि निर्धारित करते हुये वृहद शादी समारोह आयोजित किया जाये, जिसमें जनप्रतिनिधयों की भी सहभागिता सुनिश्चित की जाए। उन्होंने पेंशन योजना की समीक्षा करते हुए पाया कि वृद्धावस्था किसान पेंशन में 96951ं के सापेक्ष 53787, महिला पेंशन में 58318 के सापेक्ष 21282 व दिव्यांगजन पेंशन योजना के अन्र्तगत 16504 के सापेक्ष 15441 लाभार्थियों की आधार फीडिंग करायी गई है। उन्होंने 31 जनवरी 2021 तक पूरी अवशेष लाभार्थियों की आधार फीडिंग का सत्यापन कराने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये।

उन्होंने बैठक में आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना, लोक निर्माण विभाग की समीक्षा व शिक्षा विभाग की समीक्षा करते हुये कहा कि जनप्रतिनिधियों भी विद्यालयों का भ्रमण किया जाये। उन्होंने कहा कि कायाकल्प योजना के अन्तर्गत विद्यालयों में कराये जा रहे कार्यों का विवरण से सम्बन्धित डिस्प्ले बोर्ड भी लगाया जाये, जिससे जनसामान्य को विद्यालयों में आवंटित धनराशि एवं उससे होने वाले कार्यों की जानकारी हो सके।

Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

या देवी सर्वभू‍तेषु माँ गौरी रूपेण संस्थिता।  नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।

!!कर्षति आकर्षति इति कृष्णः!! कृष्ण को समझना है तो जरूर पढ़ें