किसानों के लिए डेथ वारंट हैं भाजपा सरकार के तीनों कृषि कानून- अखिलेश यादव


लखनऊ समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा सरकार की कुनीतियों के खिलाफ चल रहे देशव्यापी किसान आंदोलन में समाजवादी पार्टी भी संघर्षरत है। भाजपा सरकार के तीनों कृषि कानून किसानों के लिए डेथ वारंट हैं। किसान के धान की लूट हुई है। किसानों को धान का, गेंहू का न्यूनतम समर्थन मूल्य कहीं नहीं मिला है।

उन्हें औनेपौने दाम पर फसल बेचने को मजबूर होना पड़ा है। समाजवादी पार्टी ने किसान यात्रा की और समाजवादी किसान घेरा कार्यक्रम के तहत चौपाल लगाकर किसानों को जागरूक कर रहे है तो पार्टी नेताओं-कार्यकर्ताओं पर गम्भीर धाराओं में तमाम फर्जी मुकदमें लगा दिए गए हैं। उनके समक्ष मशहूर शायर मुनव्वर राना की बेटी सुमैया राना, गोण्डा से बसपा के लोकसभा प्रत्याशी रहे मसूद आलम खां, पूर्व विधायक रमेश गौतम, सुप्रीमकोर्ट के एडवोकेट प्रकाश चंद्र बर्नवाल के साथ आए सैकड़ो लोगों ने समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।

अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा की सरकार में कुछ भी हो सकता है। सच लिखने या बोलने पर मुकदमा भी हो सकता है। आतंकवादी बताया जा सकता है। इतना झूठ और भ्रष्टाचार कभी नहीं रहा। इस सरकार की नीति है ठोक दो! सिर फोड़ दो! मुकदमें लगा दो! हमारे कार्यकर्ताओं का सिर फोड़ दिया गया और हमारे ऊपर मुकदमा लगा दिया। अन्याय और अत्याचार की भाजपा राज में कोई सीमा नहीं रही है। कोई आवाज उठाता है तो उसकी आवाज दबा दी जाती है।

यादव ने स्पष्टता से कहा कि अगले विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी की सरकार बनेगी। भाजपा सरकार से जनता को कोई उम्मीद नहीं रह गई है। अभी तक जो काम नहीं हुए वे सब अलोकतांत्रिक काम भाजपा राज में हो रहे हैं। भाजपा मंत्री पर फर्जी मोबाइल लांच करने का आरोप है। इसी सरकार में सचिवालय में फर्जी अधिकारी बनकर भ्रष्टाचार किया जाता है। जीरो टालरेंस की बात करने वालों जैसा झूठ किसी सरकार में नहीं सुना। भाजपा किसी हद तक जा सकती है। इनका छोटा दिल है।

अखिलेश यादव ने कहा कि जब भाजपा सरकार हटेगी तभी लोकतंत्र बचेगा! भाजपा सरकार में देश की अर्थव्यवस्था बर्बाद हुई है। नोटबंदी, जीएसटी और लाकडाउन से लोग त्रस्त हैं। 90 से ज्यादा मजदूरों की मौत हुई है। सरकार ने किसी की मदद नहीं की। विदेशों में किसान को भरपूर सब्सिड़ी मिलती है। समाजवादी पार्टी का मानना है कि ऐसी एमएसपी हो जिसमें किसान की आय दुगनी हो।

यादव ने कहा कि भाजपा नफरत की राजनीति करती है। वह दलों को तोड़ती है। जांचों के नाम पर विपक्ष को डराती-धमकाती है और फिर फायदा उठाती है। सत्ता का दुरूपयोग कर प्रशासन को मोहरा बनाती है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की बुनियाद समाजवादी पार्टी की सरकार ने रखी थी। राजधानी लखनऊ में मेट्रो रेल वहीं रूकी हुई है जहां छोड़ गए थे। गोरखपुर-वाराणसी में इतने वर्षों में भी मेट्रो रेल नहीं चली। समाजवादी पार्टी ने काम किया है, भाजपा केवल अपना नाम फर्जी ढंग से लगा रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा को हराना है जब वह सत्ता से बाहर होगी तभी देश व समाज में खुशहाली आएगी। 

किसानों को भाजपा पर भरोसा नहीं रह गया है। किसानों के हक में जो मंडिया बननी थीं उन्हें रोक दिया गया है। सरकारी इमारतें बेच दी गई है। किसान को बाजार के हवाले नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि हाथरस के मामले में सरकार का झूठ सामने आ गया है। समाजवादी पार्टी कभी सीएए, एनआरसी, एनपीआर के पक्ष में नहीं रही। समाजवादी पार्टी जातीय जनगणना चाहती है। भाजपा एसआईटी का दुरूपयेाग कर रही है। समाजवादी पार्टी की सरकार बनने पर एसआईटी की भी जांच होगी। किसान आंदोलन एवं सीएए, एनआरसी के आंदोलन में जितने झूठे मुकदमें भाजपा सरकार ने लगाए हैं। वे सभी वापस होंगे।

Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

या देवी सर्वभू‍तेषु माँ गौरी रूपेण संस्थिता।  नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।

!!कर्षति आकर्षति इति कृष्णः!! कृष्ण को समझना है तो जरूर पढ़ें