सरकार ने साजिशन जो कृृषि विधेयक पास किया है - अखिलेश यादव



समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा सरकार जश्नों की खुमारी में डूबी है जबकि बदहाल किसानों, बेरोजगार नौजवानों के घरो में अंधेरा है। इसी उपलब्धि का भाजपा नगाड़ा पीट रही है। सन 2020 में लगातार दूसरी तिमाही विकास दर माइनस शून्य। आर्थिक मंदी की चपेट में अर्थव्यवस्था। प्रदेश में धेले का निवेश नहीं इसके लिए मुख्यमंत्री मुम्बई में उद्योगपतियों के सामने शरणं गच्छामि होंगे। लोकतंत्र का इससे बुरा उपहास और क्या होगा?

कोई किसानों के जख्मों पर नमक छिड़कना भाजपा से सीखे। न किसान का कर्ज माफ किया, नहीं एमएसपी दी। गन्ना मूल्य भुगतान करने में हीलाहवाली। सन 2022 में किसान की आय दुगुनी होने की दूर-दूर तक संभावना नहीं। किसान के उपयोग की खाद, बिजली, कीटनाशक सब महंगी है। मजबूरी में हजारों किसान आत्महत्या कर चुके हैं।

आज किसान अपनी मांगो को लेकर आंदोलित हैं। सरकार ने साजिशन जो कृृषि विधेयक पास किया है उससे किसान अपनी खेती पर स्वामित्व खो देंगे। उन्हें कारपोरेट खेती के लिए मजबूर किया जाएगा। भजपा सरकार ने जानबूझकर इसीलिए एमएसपी का प्रावधान नहीं रखा है। किसानों को अपनी फसल बड़े व्यापरियों के हाथों बेचने की मजबूरी होगी।

प्रधानमंत्री भूलें नहीं कि एक्सप्रेस-वे का उत्तर प्रदेश से परिचय समाजवादी सरकार ने ही कराया। आगरा-लखनऊ, एक्सप्रेस-वे पहली एक्सप्रेस-वे है जिसे समाजवादी पार्टी की सरकार ने बनाया था। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे भी समाजवादी सरकार की ही देन है। राज्य भर में जनपदों को फोरलेन सड़कों से जोड़ने की व्यवस्था भी समाजवादी सरकार में हुई थी।

सच तो यह है कि भाजपा सरकार के अब तक के कार्यकाल में प्रदेश के विकास का एक भी काम नहीं हुआ है। यह सरकार पूरी तरह विफल सरकार रही है। जनता भी इनकी जुमलेबाजी से भलीभांति परिचित हो गई है। कोई इनके भुलावे में आने वाला नहीं है। बचे हुए दिन काटने हैं तो कुछ उछलकूद दिखाने भर को मुख्यमंत्री जी लग गए हैं।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न