उत्तर प्रदेश में पर्यटन विकास की असीम सम्भावनाएँ - मुख्य सचिव

 


लखनऊ। उत्तर प्रदेश में रिवर टूरिज्म, साहसिक पर्यटन, इको-टूरिज्म को लाभान्वित एवं प्रोत्साहित करने तथा पर्यटन उद्योग को बढावा दिये जाने के उद्देश्य से उत्तर प्रदेश पर्यटन विभाग एवं इनलैण्ड वाटरवेज प्राधिकरण (आई0डब्लू0ए0आई0), भारत सरकार के मध्य वाराणसी में रो-रो पैक्स वैसेल के संचालन के सम्बन्ध में मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी के समक्ष एम0ओ0यू0 हस्ताक्षरित किया गया।

अपने सम्बोधन में मुख्य सचिव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में पर्यटन विकास की असीम सम्भावनाएँ है। यहाँ धार्मिक, सांस्कृतिक, ऐतिहासिक एवं वन्यजीव आदि के अनेकों स्थल विद्यमान है, यही कारण है कि विविधतापूर्ण पर्यटन आकर्षणों के परिपूर्ण होने के कारण यह प्रदेश देश-विदेशों में महत्वपूर्ण पर्यटन केन्द्र के रूप में प्रसिद्ध है। 

बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि वाराणसी में रो-रो पैक्स वैसेल का संचालन उत्तर प्रदेश पर्यटन द्वारा किया जायेगा। इस सम्बन्ध में मुख्य सचिव द्वारा प्रदेश में रिवर टूरिज्म की असीम सम्भावनाओं को चिन्हित करने तथा देशी-विदेशी पर्यटकों के रात्रि प्रवास को बढाने हेतु कार्य-योजना तैयार किये जाने के निर्देश प्रदान किये गये, साथ ही अयोध्या में सरयू नदी पर रिवर टूरिज्म को बढावा देने हेतु प्रस्तुतीकरण का अवलोकन किया गया तथा अयोध्या पर पैकेज टूर बनाये जाने के निर्देश पर्यटन विभाग को दिये गये। 

अयोध्या में प्रदेश सरकार द्वारा कराये जा रहे विकास कार्यों से अयोध्या देश का प्रमुख पर्यटन स्थल के रूप में चिन्हित होगा, इसी क्रम में भविष्य में पर्यटन विकास की अपार सम्भावनाओं के दृष्टिगत रिवर क्रूज टूरिज्म को जोड़ने के उद्देश्य से डा0 अमिता प्रसाद, अध्यक्ष, इनलैण्ड वाटरवेज प्राधिकरण (आई0डब्लू0ए0आई0), भारत सरकार द्वारा अयोध्या में 02 जेट्टी के निर्माण हेतु सहमति प्रदान की गई तथा प्रदेश सरकार से भूमि चिन्हित करने का अनुरोध किया गया, जिस पर मुख्य सचिव द्वारा सहमति प्रदान की गई। 

      

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न