मुख्य सचिव की अध्यक्षता में उ0प्र0 कैम्पा अभिचालन समिति की बैठक की गई आयोजित

लखनऊ मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी की अध्यक्षता में उत्तर प्रदेश प्रतिकरात्मक वनरोपण निधि प्रबन्धन एवं योजना प्राधिकरण (उ0प्र0 कैम्पा) अभिचालन समिति (Steering Commitee) की चतुर्थ बैठक आयोजित की गई। बैठक का संचालन अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक/मुख्य कार्यकारी अधिकारी उत्तर प्रदेश कैम्पा द्वारा किया गया।

अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक/मुख्य कार्यकारी अधिकारी, उत्तर प्रदेश कैम्पा द्वारा वर्ष 2020-21 की वार्षिक प्रचालन योजना के सापेक्ष प्रगति सूचना को समिति के समक्ष प्रस्तुत किया गया, उनके द्वारा अवगत कराया गया कि वर्ष 2020-21 की वार्षिक प्रचालन योजना के अन्तर्गत मुख्यतः वर्ष 2020 वर्षाकाल वृक्षारोपण, वर्ष 2021 वर्षाकाल हेतु अग्रिम मृदा कार्य, ए0एन0आर0 कार्य, भूमि एवं जल संरक्षण कार्य, वन एवं वन्यजीव सुरक्षा सम्बन्धी कार्य, जैव विविधता संरक्षण सम्बन्धी कार्य, वानिकी सम्बन्धी शोध कार्य एवं वन्यजीवों के प्राकृतवास में सुधार सम्बन्धी कार्य कराये गये हैं।

अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक/मुख्य कार्यकारी अधिकारी उत्तर प्रदेश कैम्पा द्वारा यह अवगत कराया गया कि वर्ष 2020 वर्षाकाल में उ0प्र0 कैम्पा योजना के अन्तर्गत कुल एक करोड़ साठ लाख पौधों का रोपण किया गया, वर्ष 2021 वर्षाकाल वृक्षारोपण के अन्तर्गत कुल एक करोड़ पैंसठ लाख पौधों को रोपित किये जाने हेतु अग्रिम मृदा कार्य कराया जा रहा है।

अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक/मुख्य कार्यकारी अधिकारी, उत्तर प्रदेश कैम्पा द्वारा यह भी अवगत कराया गया कि बुन्देलखण्ड क्षेत्र में अभियान के तौर पर भूमि एवं जल संरक्षण सम्बन्धी कार्य कराये जा रहे हैं, जिनसे पड़ने वाले प्रभावों के सम्बन्ध में भी अध्ययन कार्य कराये जा रहे है। उ0प्र0 कैम्पा अभिचालन समिति द्वारा वर्ष 2020-21 की वार्षिक प्रचालन योजना का Mid Term Review किया गया, जिसके अन्तर्गत बचत की धनराशि 3795.06 लाख रुपये से वर्ष 2021 वर्षाकाल गैर क्षतिपूरक वृक्षारोपण के अग्रिम मृदा कार्य 9787.45 है (कुल पौध संख्या 1,23,78,800) कराये जाने के प्रस्ताव का अनुमोदन प्रदान किया गया।

Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

या देवी सर्वभू‍तेषु माँ गौरी रूपेण संस्थिता।  नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।

!!कर्षति आकर्षति इति कृष्णः!! कृष्ण को समझना है तो जरूर पढ़ें