"गणतंत्र दिवस परेड 2021" में दिखाई गई उ०प्र० के "राम मंदिर मॉडल" की झांकी को मिला प्रथम पुरस्कार

नई दिल्ली 72वें गणतंत्र दिवस के मौके पर राजपथ (Rajpath) पर बनाई गई राज्यों की झांकियों में से उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की भव्य झांकी ने बाजी मार ली है। यूपी की झांकी को पहला स्थान मिला है।
 

देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) गुरुवार को दिल्ली में पुरस्कार देकर सम्मानित करेंगे। दिल्ली के राजपथ पर गणतंत्र दिवस के अवसर पर आयोजित परेड में उत्तर प्रदेश की झांकी ने लोगों का मन मोह लिया। अयोध्या में बनने वाले राम मंदिर मॉडल पर आधारित झांकी को प्रथम पुरस्कार प्राप्त हुआ।
 
 
गुरुवार को केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू ने उत्तर प्रदेश के अधिकारियों को यूपी की झांकी के प्रथम स्थान पर रहने के लिए सम्मानित किया। इसके अलावा, त्रिपुरा की झांकी दूसरे व उत्तराखंड की तीसरे स्थान पर रही। इसके पहले उत्तर प्रदेश के सूचना निदेशक शिशिर ने ट्वीट कर अफसरों को बधाई दी।
 

उन्होंने ट्वीट कर कहा था कि इस वर्ष के गणतंत्र दिवस में उत्तर प्रदेश की भव्य झांकी को प्रथम स्थान पाने का गौरव प्राप्त, सारी टीम को दिल से बधाई। गीतकार विरेंद्र सिंह को विशेष आभार कल दिल्ली में रक्षा मंत्री पुरस्कार प्रदान करेगें।
 
 
रिपब्लिक डे (Republic Day) के मौके पर देश की राजधानी दिल्‍ली में राजपथ पर आयोजित परेड में जैसे ही राम मं‍दिर (Ram Mandir) के मॉडल वाली उत्‍तर प्रदेश की झांकी आई तो वहां मौजूद लोग खड़े होकर तालियां बजाने लगे।
 
 
तस्‍वीरों में कई लोग राम मंदिर के इस मॉडल की ओर हाथ जोड़े नजर आए। जय श्रीराम के नारे भी लगाए गए। यूपी की झांकी के पहले भाग में महर्षि वाल्मिकी को रामायण की रचना करते दिखाया गया जबकि मध्य भाग में राम मंदिर का मॉडल दिखाया गया था।
 

पहली बार राजपथ पर अयोध्‍या में बनने वाले राम मंदिर और दीपोत्‍सव की झलक वाली झांकी न‍िकाली गई। सूचना निदेशक शिशिर ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। इस ट्वीट के मुताबिक इस वर्ष के गणतंत्र दिवस में उत्तर प्रदेश की भव्य झांकी को प्रथम स्थान पाने का गौरव प्राप्त हुआ है।
 
 
यूपी की ओर से निकाली गई झांकी को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार के ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया, ट्वीट कर लिखा गया, ''राजपथ, नई दिल्ली में आयोजित गणतंत्र दिवस परेड के सुअवसर पर आज देश विभिन्न संप्रदायों की आस्था के प्रतीक प्रभु श्रीराम की जन्मस्थली अयोध्या के वैभव से अवगत हुआ। उत्तर प्रदेश की ओर से प्रस्तुत की गई झांकी में सामाजिक सद्भाव व सांस्कृतिक विरासत के उत्कृष्टतम उदाहरण की झलक दिखी।''

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार