मुख्य सचिव ने बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे प्रोजेक्ट का सम्पूर्ण कार्य 30 दिसम्बर, 2022 तक पूरा करने के दिए निर्देश

लखनऊ। मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी की अध्यक्षता में आयोजित प्रोजेक्ट माॅनिटरिंग ग्रुप की बैठक में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे, बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे, गोरखपुर-आजमगढ़ लिंक एक्सप्रेस-वे, गंगा एक्सप्रेस-वे के निर्माण एवं डिफेन्स काॅरीडोर की प्रगति की समीक्षा की गयी।

अपने सम्बोधन में मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का मेन कैरिज वे 31 मार्च, 2021 तक चालू हो जायेगा तथा हल्के वाहनों का आवागमन प्रारंभ हो जायेगा, जिसके दृष्टिगत पब्लिक यूटिलिटी एवं पेट्रोल पम्प आदि की जरूरी व्यवस्थाएं समय से सुनिश्चित की जाये। उन्होंने कहा कि सड़क निर्माण के साथ-साथ अन्य जरूरी व्यवस्थाएं भी समयबद्ध रूप से की जानी चाहिए ताकि एक्सप्रेस-वे पर यात्रा करने वालों को कोई असुविधा न हो।

उन्होंने आवागमन चालू करने के साथ ही एक्सप्रेस-वे पर टाॅयलेट्स, फ्यूल पम्प्स, समुचित खान-पान आदि की भी व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराने को कहा। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे को गूगल मैप से जोड़़ने हेतु भी अग्रेत्तर कार्यवाही करने के निर्देश दिये। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के सम्बन्ध में बताया गया कि मेन कैरिज वे 31 मार्च, 2021 तक पूरा हो जायेगा। सर्विस रोड 31 जुलाई, 2021 तक तथा सम्पूर्ण कार्य माह अक्टूबर, 2021 तक पूरा हो जायेगा। हल्की गाड़ियों का आवागमन माह मार्च, 2021 के पश्चात् चालू हो जायेगा। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे में 07 दीर्घपुल बनाये जा रहे हैं तथा कार्य की भौतिक प्रगति 90.32 प्रतिशत है। 22 फ्लाईओवर बनाये जा रहे हैं तथा भौतिक प्रगति करीब 75 प्रतिशत है।

बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे निर्माण की समीक्षा में बताया गया कि 28 फरवरी, 2022 तक सड़क की एक साइड आवागमन हेतु खोल दी जायेगी तथा दोनों साइड 30 अप्रैल, 2022 तक आवागमन हेतु खोल दी जायेगी। बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे का सम्पूर्ण कार्य 30 दिसम्बर, 2022 तक पूरा कर लिया जायेगा। बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे के निर्माण की अद्यतन भौतिक प्रगति 32.31 प्रतिशत है। डिफेन्स इण्डस्ट्रियल काॅरीडोर प्रोजेक्ट की समीक्षा में बताया गया कि अलीगढ़ में 60.7400 हेक्टेयर भूमि की उपलब्धता के सापेक्ष 100 प्रतिशत भूमि आवंटित की जा चुकी है।

Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

या देवी सर्वभू‍तेषु माँ गौरी रूपेण संस्थिता।  नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।

!!कर्षति आकर्षति इति कृष्णः!! कृष्ण को समझना है तो जरूर पढ़ें