साहिब श्री गुरुगोबिन्द सिंह जी महाराज का 355वाँ प्रकाश पर्व श्रद्धा के साथ मनाया गया

लखनऊ। दिनांक 20 जनवरी 2021 दिन बुधवार को साहिब श्री गुरु गोबिन्द सिंह जी महाराज का 355वाँ प्रकाश पर्व (जन्मोत्सव) श्री गुरू सिंह सभा ऐतिहासिक गुरुद्वारा नाका हिण्डोला, लखनऊ में शासन द्वारा जारी कोविड-19 की गाइड लाइन एवं प्रशासन के निर्देशों अनुसार के बड़ी श्रद्धा एवं सत्कार के साथ मनाया गया। 
 
 
गुरुद्वारा साहिब के भव्य हाल को फलों, बिजली की झालरों से बहुत खुबसूरती से सजाया गया। जिसमें संगमरमर की भव्य पालकी में श्री गुरूग्रन्थ साहिब जी का प्रकाश किया गया। हजूरी रागी जत्था भाई राजिन्दर सिंह ने हम इह काज जगत मो आये धरम हेत गुरदेव पठाए।। एवं पवित्र आसा-दी-वार का अमृतमयी कीर्तन गायन कर संगत को निहाल किया। बहुत सुबह से ही लखनऊ एवं आस-पास के इलाकों से श्रद्धालुओ ने सोशल डिस्टेंसि पक्तियों में खड़े होकर श्री गुरू ग्रन्थ साहिब जी के दर्शन के पश्चात् अपना स्थान ग्रहण कर गुरूबाणी का रसपान किया।
 
 
आकाशवाणी लखनऊ केन्द्र द्वारा आधे घन्टे का सीधा प्रसारण करके प्रदेश भर की संगतों को कार्यक्रम का रसास्वादन कराया गया। श्री गुरू सिंह सभा के अध्यक्ष स0 राजेन्द्र सिंह बग्गा ने इस अवसर पर उपस्थित संगतों को प्रकाश पर्व की बधाई दी तथा बधाई संदेश आकाशवाणी लखनऊ द्वारा भी प्रसारित किया गया। मुख्य ग्रन्थी ज्ञानी सुखदेव सिंह ने साहिब श्री गुरू गोबिन्द सिंह जी के जीवन पर दिल को छू देने वाले विचार व्यक्त किये। बीबी जसप्रीत कौर (जस) लुधियाना वालों ने साच कहों सुन लेहु सभै जिन प्रेम कियो तिन ही प्रभ पाइयो।। एवं कर किरपा कर किरपा अपनी भगती लाई।। शबद कीर्तन गायन कर संगतों को मन्त्रमुग्ध कर दिया।
 
 
के0 के0 एन0 एस0 और गुरमति संगीत एकेडमी नाका के बच्चों एवं माता गुजरी सत्संग सभा, लखनऊ की सदस्याओं ने भी इस कार्यक्रम में शबद कीर्तन गायन किया। दिन भर गुरबाणी कीर्तन तथा गुरमत विचारों का कार्यक्रम चला जिसका संचालन स0 सतपाल सिंह मीत ने किया। इस अवसर पर 12 वर्ष तक के बच्चों के लिए "सिक्खी बाणा मुकाबले का आयोजन भी किया गया जिसमें सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाले बच्चों और मुकाबले में हिस्सा लेने वाले सभी बच्चों एवं प्रकाश पर्व को समर्पित रखे गये सहज पाठ में पाठ करने वाले सदस्यों को श्री गुरू सिंह सभा के अध्यक्ष स० राजेन्द्र सिंह बग्गा ने पुरुस्कार एवं गुरु घर का सम्मान सिरोपा भेंट कर सम्मानित किया।
 
समागम में लंगर के वितरण की सेवा हरविन्दरपाल सिंह नीटा की देखरेख में सिख यंग मेन्स एसोसियेशन एवं दशमेश सेवा सोसाइटी द्वारा की गयी। जोड़ाघर (जूते-चप्पल) की सेवा राजवन्त सिंह बग्गा, कुलदीप सिंह सलूजा आदि सिक्ख सेवक जत्थे के सदस्यों द्वारा की गई। गुरुद्वारा साहिब में प्रशासन के कोविड गाइडलाइन का पूरा पालन करने का प्रयास किया गया। सभी को सेनेटाइजर लगाकर मास्क के साथ सोशल डिस्टेन्सिग का पालन यूथ खालसा ऐसोसिऐशन के सेवादारों द्वारा करवाया जा रहा था।
 
अरदास के उपरान्त उपस्थित श्रद्धालुओं में प्रसाद वितरित किया गया। कार्यक्रम की समाप्ति पर श्री गुरू सिंह सभा के अध्यक्ष स0 राजेन्द्र सिंह बग्गा ने सभी सिख संगठनों/जत्थेबन्दियों सिख सेवक जत्था, दशमेश सेवा सोसाइटी, गुरमत विद्यार्थीयों को जो गुरुद्वारा साहिब में गुरबाणी की शिक्षा लेते हैं गुरू जी की कृपा "सिरोपा" भेंट कर सम्मानित किया। दिन के 11 बजे से गुरू का प्रसाद संगत में वितरित किया गया।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न