प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने स्वामी विवेकानंद के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के निर्देश पर आज राजधानी लखनऊ सहित प्रदेश के सभी जनपदों में स्वामी विवेकानंद की जयंती पर उनका पुण्यस्मरण करते हुए पुष्पांजलि अर्पित की गई।
 
समाजवादी पार्टी मुख्यालय में स्वामी विवेकानंद के चित्र पर नेता विरोधी दल विधानसभा राम गोविन्द चौधरी, राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चौधरी तथा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने पुष्पांजलि अर्पित की। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने स्वामी विवेकानंद को भावांजलि देते हुए कहा कि स्वामी ने असहाय और समाज के वंचित वर्गो की सेवा को ही ईश्वर की भक्ति माना था। अध्यात्म को सामाजिक सरोकारों से जोड़ा था।
 
उन्होंने शिक्षा, सेवा, त्याग और समर्पण पर विशेष बल दिया था। उनका राष्ट्रवाद कट्टरता से मुक्त समन्वयवादी है। स्वामी मानते थे कि सांप्रदायिकता, असहिष्णुता और जातीयता ने इस देश को बहुत नुकसान पहुंचाया है। यादव ने कहा कि स्वामी विवेकानंद का कहना था कि हमे सार्वभौमिक सहिष्णुता पर विश्वास के साथ सभी धर्मो को सच के रूप में हमें स्वीकार करना चाहिए। वे मानते थे कि मानवता से बड़ा कोई धर्म नहीं है। भूखे पेट और निरक्षरता से अध्यात्म की चर्चा नही हो सकती है। उन्होंने युवाओं को स्वास्थ्य, शिक्षा और अनुशासनपूर्ण जीवन का संदेश दिया था।

Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

या देवी सर्वभू‍तेषु माँ गौरी रूपेण संस्थिता।  नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।

!!कर्षति आकर्षति इति कृष्णः!! कृष्ण को समझना है तो जरूर पढ़ें