सपा के काम का फीता काटकर अपने दिन काट रही है भाजपा सरकार- अखिलेश यादव


लखनऊ समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा सरकार ने विकास के नाम पर उत्तर प्रदेश को विनाश के गर्त में ढकेल दिया है। केवल गप्पबाजी और विज्ञापन के बूते इस सरकार का अस्तित्व है जिसका प्रदेश की जनता के सुख-दुःख से कुछ लेना देना नहीं है। भाजपा की काली करतूतों एवं जनविरोधी नीतियों के चलते प्रदेश की ख्याति धूमिल हुई है।

आज के दिन 24 जनवरी 1950 को उत्तर प्रदेश की स्थापना हुई थी। इससे पहले उत्तर प्रदेश संयुक्त प्रांत के नाम से जाना जाता था तब से 70 वर्ष हो गए प्रदेश को विकास की चाह अभी तक है। प्रदेश के स्थापना दिवस को भी भाजपा ने एक इवेंट बना दिया है। बगैर कुछ किए समाजवादी पार्टी के कामों को अपना बताकर भाजपा प्रदेश के विकास का श्रेय ले रही है। प्रधानमंत्री कह रहे हैं कि मुख्यमंत्री ने प्रदेश का विकास किया है। परन्तु यह कैसा विकास है कि सर्वे में दसवें पायदान पर भी उत्तर प्रदेश नहीं है। हर मामले में फिसड्डी उत्तर प्रदेश की प्रतिव्यक्ति प्रतिवर्ष आय 70 हजार रूपये होने का दावा मुख्यमंत्री ने ठोक दिया है।

प्रदेश के विकास की झूठी कहानी गढ़ने वाले भाजपा के अफसरी आंकड़े बताते हैं कि प्रदेश की कानून व्यवस्था बद से बद्द्तर होती गई है। जंगलराज की आग में उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था स्वाहा हो गई है। भाजपा सरकार के समय की एक उपलब्धि यह भी है कि राजधानी लखनऊ, जहां मुख्यमंत्री का आवास है, का नाम मकान, प्लाट में धोखाधड़ी और ठगी करने में सर्वप्रथम आ गया है। प्रदेश में न तो निवेश आया, न उद्योग लगे और नहीं लोगों को रोजगार मिला।

मुख्यमंत्री ने एक जनपद, एक उत्पाद के शोर में तीन दिन सभी जनपदों में कार्यक्रमों की घोषणा कर दी है। इसमें नई बात क्या है? पहले से ही अलीगढ़ तालो के लिए, रामपुर चाकुओं के लिए, सहारनपुर नक्काशीदार लकड़ी के लिए, मुरादाबाद पीतल के बर्तन के लिए, कानपुर लेदर के लिए आदि विभिन्न स्थान अपने उत्पादों के लिए प्रख्यात हैं। भाजपा ने इनकी जो हाट लगाई है वह स्थान भी समाजवादी पार्टी की देन है। अवध शिल्पग्राम की स्थापना भी समाजवादी पार्टी की सरकार ने ही की थी। समाजवादी पार्टी ने जनता के लिए काम किए, केवल प्रचार के लिए नहीं। मुख्यमंत्री समाजवादी पार्टी के काम का फीता काट कर अपने दिन काट रहे है।

अभी मुख्यमंत्री ने नोएडा सेक्टर 21-ए स्थित 100 करोड़ की लागत से तैयार इन्डोर स्टेडियम का लोकार्पण दुबारा कर दिया। वैसे भी भाजपा सरकार समय से कोई काम पूरा नहीं करा पाती है। अब जब एक वर्ष ही बचा है, उनसे और क्या करने की उम्मीद की जा सकती है? नोएडा का स्टेडियम भी समाजवादी सरकार की देन है। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आव्हान किया है कि आइए, हम सब मिलकर नया उत्तर प्रदेश बनाएं जिसमें हर दिन खुशहाली का उत्सव मनाएं। समाजवादी पार्टी प्रदेश के विकास के लिए निरन्तर वचनबद्ध है। 2022 में समाजवादी पार्टी की सरकार बनने पर ही उत्तर प्रदेश का भाग्योदय हो पायेगा।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार