विकास कार्यक्रमों में शिथिलता बर्दाश्त नहीं - डीएम

 


श्रावस्ती। जिले के विकास हेतु विभिन्न विभागों के माध्यम से चलाये जा रहें विकास कार्यक्रमो में तेजी लाई जाए और यह भी ध्यान रखा जाए कि सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं से कोई भी पात्र व्यक्ति वंचित न रह जाय। इसके अलावा निर्माणाधीन विकास कार्यो को भी संबंधित विभागीय अधिकारी अपने देख-रेख में गुणवत्तापूर्ण ढ़ग से समय से पूरा कराये। इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता कदापि बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

उक्त निर्देश कलेक्ट्रेट सभागार में विकास कार्यो के प्रगति की विभागवार समीक्षा के  दौरान  जिलाधिकारी टी0के0 शिबु ने दिया है। उन्होंने जोर देते हुए कहां कि निर्माणाधीन विकास कार्यो को शिथिल गति से कराने से वे निश्चित समय पर पूरे नहीं हो पाते है। जिससे उनकी लागत में भी बढ़ोत्तरी होने की प्रबल संभावना रहती है। निर्धारित समय पर निर्माणाधीन विकास कार्य पूरा न होने पर सरकार के ऊपर अतिरिक्त आर्थिक भार बढ़ जाता है। इसलिए संबंधित विभागों/कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारी निर्माणाधीन विकास कार्यो निरन्तर माॅनिटिर्रिंग कर गुणवत्ता के साथ कार्य को समय से पूरा करावें।

समीक्षा के दौरान लक्ष्य के अनुरुप प्रगति संतोषजनक न पाने पर क्रमशः लोक निर्माण विभाग, कृषि, पशुपालन, स्वास्थ्य, पंचायती राज, ग्राम विकास, महिला कल्याण, बाल विकास पुष्टाहार, बेसिक शिक्षा, कौशल विकास मिशन, आई0टी0 एवं इलेक्ट्रानिक्स, उद्योग, श्रम, खादी ग्राम उद्योग एवं सहकारिता विभाग के अधिकारी को प्रगति बढ़ाने का निर्देश दिया गया है।

जिलाधिकारी ने समस्त जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देश दिया है कि क्रिटिकल गैप्स योजना वर्ष-2020-21 में  ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों के विकास हेतु धनराशि प्राप्त हुई है। संबंधित विभागीय अधिकारी शासनादेश अनुरुप प्रस्ताव बनाकर भेजे ताकि परीक्षण कराकर कार्य कराया जा सकें, राजकीय निर्माण निगम द्वारा निर्माण कार्यो की प्रगति रिपोर्ट तत्काल उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है। निर्माणाधीन परियोजनाओं की गुणवत्ता की जांच समय-समय पर कराते हुए सत्यापन रिपोर्ट उपलब्ध कराने हेतु निर्देशित किया गया है। प्रस्तावित जिला योजना वर्ष-2021-22 के प्रस्ताव मात्र वन विभाग, दुग्ध विकास एवं पंचायतीराज विभाग द्वारा प्राप्त हुये है अन्य सभी विभाग जो अभी तक प्रस्ताव नहीं दिये है। उन्हें तत्काल प्रस्ताव देने हेतु निर्देशित किया गया है।

 उक्त बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी ईशान प्रताप सिंह, जिला विकास अधिकारी विनय कुमार तिवारी, डी0सी0 मनरेगा, जिला अर्थ एवं संख्याधिकार नरेन्द्र कुमार कुशवाहा, जिला कार्यक्रम अधिकारी आशा सिंह, जिला पंचायत राज अधिकारी किरन, जिला कृषि अधिकारी आर0पी0 राना, जिला पूर्ति अधिकारी क्यामुद्दीन अंसारी सहित तमाम विभागों के अधिकारी उपस्थित रहें।

(एम० अहमद) 


Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

या देवी सर्वभू‍तेषु माँ गौरी रूपेण संस्थिता।  नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।

!!कर्षति आकर्षति इति कृष्णः!! कृष्ण को समझना है तो जरूर पढ़ें