संविधान, आरक्षण और देश को तोड़ने का काम कर रही योगी सरकार - अजय कुमार लल्लू

लखनऊ। उ0प्र0 कांग्रेस पिछड़ा वर्ग विभाग द्वारा 19 अति पिछड़ी जातियों के हक, सम्मान और लोकतंत्र में उनकी भागीदारी के लिए अतिपिछड़ा सम्मेलन (धीवर, कश्यप, मल्लाह, केवट, कहार, प्रजापति, बिन्द आदि) आज यहां प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में सम्पन्न हुआ। सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रूप में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू मौजूद रहे। 
 
सम्मेलन के समापन पर अतिपिछड़ा समाज के प्रतिनिधियों ने हाथ उठाकर शपथ ली कि आने वाले समय में अपने हक, सम्मान और भागीदारी के लिए कांग्रेस और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलेंगे और उनके हाथों को मजबूत बनायेंगे। सम्मेलन में संविधान को कमजोर करने, आरक्षण को साजिशन समाप्त करने का षडयन्त्र करने और निजीकरण करके पिछड़ों की हकमारी करने के प्रयासों पर निन्दा प्रस्ताव पारित किया गया। 
 
 
अतिपिछड़ा वर्ग सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि जमींदारी उन्मूलन कानून लागू करके पिछड़ों को जमीन का अधिकार देने का काम कांग्रेस ने किया। संविधान में आरक्षण का प्रावधान देकर पिछड़ों को संसाधन में भागीदारी करने का मौका दिया। पिछड़े वर्ग के गरीब छात्रों के लिए छात्रवृत्ति देने की कार्य योजना बनाकर कांग्रेस ने पिछड़े वर्ग के छात्रों को उच्च शिक्षा में भागीदारी दिलायी। कुछ लोग आये और पिछड़ों को नारा दिया- जिसकी जितनी संख्या भारी, उसकी उतनी भागीदारी। लेकिन यह नारा सिर्फ नारा ही रहा।
 
उन्होने कहा कि कांग्रेस के अलावा अन्य पार्टी की नीयत, नियति में अति पिछड़े वर्ग को लेकर कोई कार्यक्रम होता ही नहीं है। निषाद, धीवर, कश्यप, मल्लाह, केवट, बिन्द, प्रजापति को नदी खनन का पट्टा होता है पर लाभ इस समाज को कभी नहीं मिला। उन्होने कहा कि मैं भी अति पिछड़े समाज से आता हूँ। मद्वेसिया समुदाय से हूँ। मेहनत के बल पर छोटा-मोटा काम करते हैं। सपा, बसपा और भाजपा ने केवट, बिन्द, मल्लाह के नदी, नाले, तालाब के पट्टे का अधिकार इन तीनों ने ही छीना है। इस समुदाय के संसाधनों पर भागीदारी कांग्रेस ही सुनिश्चित कर सकती है।
 
 
उन्होने कहा कि 69000 शिक्षक भर्ती में पिछड़ों के अधिकार पर डाका डाला गया। निजीकरण को बढ़ावा देकर पिछड़ों के आरक्षण को समाप्त किया जा रहा है। संविधान को कुचला जा रहा है। दलितों, पिछड़ों पर ऐतिहासिक अन्याय हो रहा है। अंत में उन्होने कहा कि आज लड़ाई तेरी मेरी की नहीं है। आज संविधान खतरे में है, आरक्षण को खत्म करने का षडयंत्र रचा जा रहा है। सबको एक साथ मिलकर कांग्रेस के साथ चलना होगा। देश, संविधान रहेगा तो आरक्षण और प्रतिनिधित्व भी रहेगा। उन्होने कहा कि अतिपिछड़े समाज के लोग एकजुट हों, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी पिछड़े, दलितों को लेकर फिक्रमंद रहती हैं। कांग्रेस और अजय कुमार लल्लू आप सब के लिए संकल्पित है प्रतिबद्ध है।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न