आदर्श गौवंश आश्रय स्थलों का माॅडल बनाकर जानकारियां अन्य स्थलों को भी कराई जाए उपलब्ध- मुख्य सचिव


प्रदेश में गोवंश आश्रय स्थलों में गोवंश के बेहतर रख-रखाव एवं अन्य आवश्यक व्यवस्थाओं सहित बेहतर संचालन कराने के दृष्टिकोण से गोवंश आश्रय स्थलों के मध्य प्रतिस्पर्धा का आयोजन कराया जाए। उन्होंने कहा कि आदर्श गौवंश आश्रय स्थलों का माॅडल बनाकर उसी के अनुसार अवस्थापना एवं अन्य सुविधाएं सृजित करने की आवश्यक जानकारियां अन्य गौवंश आश्रय स्थलों को भी उपलब्ध कराई जाए।

अन्य गौवंश आश्रय स्थलों को बेहतर बनाने हेतु आवश्यक कार्यों के लिए योजनावार धनराशि उपलब्ध कराने की पूर्ण जानकारी सम्बन्धित जनपदों को यथाशीघ्र उपलब्ध करा दी जाए। लगभग 1169 गौवंश आश्रय स्थलों में बनने वाली खाद का उपयोग जैविक खेती में कराने हेतु सम्बन्धित विभाग यथाशीघ्र आवश्यक निर्देश निर्गत करना सुनिश्चित कराएं। प्रदेश के समस्त निराश्रित गौवंशों को स्थानीय स्तर पर ही आवश्यक व्यवस्थाएं एवं उनके खाने आदि की व्यवस्था सुनिश्चित कराने हेतु प्रत्येक न्याय पंचायत पर गौवंश आश्रय स्थल खोलने हेतु आवश्यकतानुसार जमीन का चिन्हांकन कराकर यथाशीघ्र अन्य व्यवस्थाएं नियमानुसार सुनिश्चित कराई जाएं।


उन्होंने गौवंश आश्रय स्थलों के संचालन हेतु अभी तक अवमुक्त 166 करोड़ रूपये की धनराशि के अतिरिक्त लगभग 34 करोड़ रूपये की धनराशि यथाशीघ्र जनवरी माह में ही अवमुक्त करने के निर्देश दिये। उन्होंने अवमुक्त धनराशि का मात्र 70 प्रतिशत ही उपभोग प्रमाण-पत्र सम्बन्धित जनपदों से प्राप्त होने पर निर्देश दिये कि सुनिश्चित किया जाए कि अवमुक्त धनराशि का नियमानुसार उपयोग कर यथाशीघ्र शत-प्रतिशत उपभोगता प्रमाण-पत्र प्राप्त कर अवशेष धनराशि यथाशीघ्र नियमानुसार निर्गत करा दी जाए।

उन्होंने निर्देश दिये कि आगामी वित्तीय वर्ष में गौवंश आश्रय स्थलों के निराश्रित गौवंशों के लिए आवश्यकतानुसार भूसे की व्यवस्था आगामी रबी सीजन में ही करा ली जाए ताकि अनावश्यक रूप से रबी सीजन के बाद अधिक मूल्य पर भूसे की खरीद करने हेतु विवश न होना पड़े। गौवंश आश्रय स्थलों के सुदृढ़ीकरण एवं अतिरिक्त आवश्यक निर्माण कार्यों हेतु राज्य वित्त आयोग से धनराशि प्राप्त करने के साथ-साथ मनरेगा से भी कार्य कराया जाना नियमानुसार सुनिश्चित कराने हेतु आवश्यक कार्यवाहियां सुनिश्चित कराई जाएं।

Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

या देवी सर्वभू‍तेषु माँ गौरी रूपेण संस्थिता।  नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।

!!कर्षति आकर्षति इति कृष्णः!! कृष्ण को समझना है तो जरूर पढ़ें