राममंदिर निर्माण के तत्वाधान में श्रीराम की महाआरती के साथ द्वितीय चरण का किया गया शुभारम्भ


टांडा। राममंदिर निर्माण निधि समर्पण अभियान टांडा के तत्वाधान में आज झारखंडी पर रामजी के महाआरती के साथ द्वितीय चरण का शुभारम्भ अयोध्या के पूज्य संत चंद्रांशू महाराज व अवधेश दास महराज की उपस्थिति में हुआ, जिसमें हजारों की संख्या में माताएं बहने व भाई बन्धुओं ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई।  

इस कार्यक्रम को अपने उद्बोधन से चंद्रांसू महाराज ने कहा कि देश में इस अभियान के माध्यम से  करोड़ों लोगो से संपर्क करने का माध्यम है। इस मन्दिर के लिए विश्व हिन्दू परिषद ने आप जैसे लोगो के बल पर देश धर्म समाज के हित में काम करने का निर्णय लिया है। जिसके माध्यम से राष्ट्र निर्माण की परिकल्पना को साकार करना चाहती है। पूज्य संतो ने यह आवाहन किया है। श्रीराम जन्मभूमि का यह मन्दिर बनने के साथ प्रत्येक रामभक्तों हृदय में वास करने वाले राम एवम् उनके आदर्श मूल्यों का प्रतिष्ठा हो दान हमारे देश की परम्परा रही है। आज इसी परम्परा का निर्वाहन रामजी के इस काम मै करना है, जिसका माध्यम रामजी ने हम और आपको चुना है।

सागर में पुल बांधते समय गिलहरी की भांति हमें भी अपनी भूमिका तय करनी होगी कि कैसा रोल इस ऐतिहासिक क्षण में प्रस्तुत कर सकतें है। अभियान प्रमुख व विश्व हिंदू परिषद के प्रांत सत्संग प्रमुख श्याम बाबू ने कहा आज हम अपने को गौरवान्वित महसूस करे क्योंकि जिस भव्य मंदिर निर्माण के सपने को साकार करने के लिए 2 नवम्बर 1990 को मुलायम सिंह यादव की गोलियां अपने सीने पर कारसेवकों ने खाई थी, उनका देखा गया सपना हम अपनी आंखों से पूरा होते देख रहे है। हम सब आज मात्र मन्दिर निर्माण ही नही बल्कि राम राज्य की कल्पना को भी साकार करने का मार्ग प्रशस्त कर रहे है।

समाज बड़ी तन्मयता से मन्दिर में सहयोग की तरफ कदम बढ़ा रही है और टोलियों का इंतज़ार कर रही है। आज बड़ी संख्या में राममन्दिर निर्माण निधि समर्पण अभियान टाण्डा नगर द्वारा आयोजित रामजी के इस महाआरती में आप सबकी उपस्थिति देखकर यह तय कर दिया कि समाज के मनमाफिक काम हो रहा है। इस कार्यक्रम में 21000 सजन लाल गुप्ता, 11000 राधे बसोतिया, 5100 मनोज साहू, 5100 रामू अग्रवाल, 21000 संजीव जायसवाल सहित दर्जनों लोगों ने राशि समर्पित कर खुद को रामजी के बन रहे मन्दिर में सेवादार बनाया। साथ ही एक छोटा बच्चा राघव गौड़ ने अपने जीवन की पूरी कमाई का गुल्लक भी सौंपकर कहा कि में खुश हूं कि मेरे इस राशि से रामजी काम हो रहा है।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार