भारत की प्रथम महिला शिक्षिका सावित्री बाई फुले की जयंती पर अखिलेश यादव ने पुष्पांजलि की अर्पित

लखनऊ। समाज सुधारक एवं भारत की प्रथम महिला शिक्षिका सावित्री बाई फुले की 189वीं जयंती आज समाजवादी पार्टी में सादगी से मनाई गई। फुले के चित्र पर समाजवादी पार्टी में राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पुष्पांजलि अर्पित की और उनके रास्ते पर चलने का संकल्प दुहराया।

अखिलेश यादव ने इस अवसर पर कहा कि सावित्री बाई फुले ने महिलाओं और दलित जातियों को शिक्षित करने की पहल की थी। उन्होंने विधवा विवाह कराने, छुआछूत मिटाने को अपना मिशन बनाया। जब लड़कियों पर पढ़ने लिखने की पाबंदी थी, तब कट्टरवादी लोगों से टकराकर उन्होंने पुणे में 3 जनवरी 1848 में 9 छात्राओं के साथ विद्यालय की स्थापना की जो उस समय बड़े साहस का कार्य था।

यादव ने कहा कि सावित्री बाई फुले को समाज सुधार के काम में रूढ़िवादी समाज से विरोध में बहुत कुछ सुनना और सहना पड़ा किन्तु उन्होंने हिम्मत नहीं हारी। उन्हें स्त्री अधिकारों एवं शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी भूमिका के लिए हमेशा याद किया जाएगा।

Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

या देवी सर्वभू‍तेषु माँ गौरी रूपेण संस्थिता।  नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।

!!कर्षति आकर्षति इति कृष्णः!! कृष्ण को समझना है तो जरूर पढ़ें