प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत की परिकल्पना हो रही है साकार- योगी आदित्यनाथ


अवध शिल्पग्राम में दस्तकारों और शिल्पकारों के लिए केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा आयोजित 24वें हुनर हाट का उद्घाटन उतर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने किया।



शिल्पकारों को संबोधित करते हुए नकवी ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी का शुरु से  संकल्प रहा है कि देश की जो एक दस्तकारी और शिल्पकारी है वो विलुप्त न होने पाये और इसी दिशा में हुनर हाट काम कर रहा है।केंद्रीय मंत्री नकवी ने कहा कि प्रधानमंत्री का जो "वोकल फार लोकल" का आत्मनिर्भर भारत का  सपना है, वो अब 'लोकल से ग्लोबल’ हो गया है क्योंकि अगली हुनर हाट का आयोजन पुर्तगाल में होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि ग्रीस,यूएसए,जर्मनी ,ईटली,पेरु और मास्को जैसे देशों ने विदेश मंत्रालय के माध्यम से हुनर हाट में रुचि दिखाई है जिसने अब तक देश में पांच लाख से भी ज्यादा दस्तकारों और शिल्पकारों को रोजगार दिया है।



नकवी ने कहा कि उतर प्रदेश हुनर हब है क्योंकि इस बार की हुनर हाट में एक जिला एक उत्पाद के हुनर को भी शामिल किया गया है। नकवी ने कहा कि हुनर हाट को अब आनलाइन कर दिया गया है, लोग अपनी पसंद की चीज़े आनलाइन देख सकते हैं और खरीद सकते हैं।शिल्पकारों को संबोधित करते हुए उतर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उतर प्रदेश प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत के सपने को जरूर पूरा करेगा। इस बार का हुनर हाट इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि इसमें एक जिला-एक उत्पाद को जोड़ा गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले तीन वर्षों में उत्तर प्रदेश ने लंबी छलांग लगाई है और प्रति व्यक्ति आमदनी बढ़ी हैजिसे तय करने में एक जिला एक उत्पाद योजना महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।



उन्होंने कहा कि केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय और एक जिला एक उत्पाद ने दस्तकारी को मान्यता दिलाने का कार्य किया है और ऐसे ही प्रोत्साहन से ताकत बढ़ती है तो आत्मनिर्भर भारत की परिकल्पना साकार होती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वदेशी और स्वावलंबन के मूल मंत्र को लेकर आजादी की लड़ाई लडी गयी थी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जिस आत्मनिर्भर भारत की बात की थी वह इसी स्वदेशी और स्वावलंबन पर आधारित है



उन्होंने कहा कि कोविड-19 जैसी वैश्विक चुनौती के समय में स्वदेशी और स्वावलंबन ने ही देश को उबारने का काम किया। योगी ने कहा कि एसा भी समय था जब भारत में पीपीई किट नहीं थी जिसे चीन से मंगाना पड़ा।चीन ने जिस पीपीई किट को भेजा था वह महंगी होने के साथ ही गुणव्तता लिहाज से भी खराब थी उसे वापस करना पड़ा बाद में स्वदेशी कारीगरों को प्रेरित किया गया और उन्होंने पीपीई किट और मास्क का निर्माण शुरु किया जिससे देश की आवश्यकता तो पूरी हई, विदेशो में भी इसका निर्यात किया गया। उतर प्रदेश में बना सैनिटाइजर 26 राज्यों को भेजा गया।



योगी ने कहा कि हुनर हाट भारत की सांस्कृति एकता की एक झलक प्रदान करता है जिस तरीके से देश के विभिन्न हिस्सों का खान-पान,रहन-सहन औऱ परिधान अलग अलग किस्म का है लेकिन फिर भी भारत एक है उसी तरीके से हुनर हाट में भी भारत की इस विविधता की झलक देखने को मिलती है।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार