भाजपा ने झूठ और नफरत की राजनीति करके हासिल की है सत्ता- अखिलेश यादव

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपने बयान में कहा है कि भाजपा ने झूठ और नफरत की राजनीति करके सत्ता हासिल की है। अमेरिका के नागरिकों ने राष्ट्रपति चुनाव में झूठ तथा नफरत की राजनीति को नकारा है। भारत में भी इसी तरह राजनीति को नकारे जाने की जरूरत है। उन्होंने कहा रंग बदलने वाली भाजपा से देश के किसान और नौजवान समेत सभी दुःखी है।

यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार के कार्यकाल में यह राज्य अपराध, भ्रष्टाचार, साम्प्रदायिकता, बेरोजगारी, खराब शिक्षा, चौपट स्वास्थ्य व्यवस्था और महिलाओं के प्रति बढ़ते अपराध के मामले में शीर्ष पर पहुंच गया है। खुद सरकारी आंकड़े बताते है कि नाबालिग बच्चियों से बलात्कार, हत्या और फर्जी एनकाउण्टर में यूपी सबसे आगे निकल गया है। भाजपा के इशारे पर प्रदेश में हत्याएं हो रही हैं। विकास का विनाश करने में भी भाजपा नम्बर एक पर पहुंच गई है। किसानों के फसल की लूट हो रही है पर भाजपा को कोई चिंता नहीं है।

अखिलेश यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री को अधिकारी जो बता देते है उसे ही वे सत्य मान लेते हैं। उनका यह कथन सही नहीं है कि समाजवादी पार्टी के शासनकाल में चीनी मिले बेची गईं, जबकि सच्चाई यह है कि उस अवधि में यूपी में एक भी चीनी मिल नहीं बेची गई। कई बंद चीनी मिलों को भी चलाया गया था। प्रदेश में भाजपा राज में गन्ना किसानों को बकाया भुगतान तक नहीं मिल पाया है। कृषि कानून पर फिलहाल सरकार पीछे हटी है पर वह किसानों को धोखा देना है। नए कृषि कानूनों से खेती को कारपोरेट जगत के हाथों गिरवी रखने की साजिश है। केन्द्र सरकार को चाहिए कि वह किसान विरोधी तीनों, बिल वापस ले और किसानों की सभी मांगे मान ले।

उन्होंने कहा भाजपा सरकार ने लाकडाउन में मजदूरों को भी सड़क पर छोड़ दिया था। कई लोगों की घर पहुंचने से पहले मौत हो गई। समाजवादी पार्टी ने मृतक आश्रितों को एक-एक लाख रूपए की मदद की। यादव ने कहा कि भाजपा ने समाज को धर्म-जाति का ज़हर एक रणनीति के तहत बांटा है। हमे आगे आनेवाली चुनौती का सामना करना है। भाजपा राज में सबसे ज्यादा झूठे मुकदमें समाजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं पर लगे हैं। कोविडकाल में सरकार हर स्तर पर नाकाम रही है। उन्होंने कहा उत्तर प्रदेश में इन्वेस्टमेंट समिट में 5 लाख करोड़ रूपये के एमओयू किए गए, डिफेंस एक्सपो भी हुआ पर हासिल क्या हुआ कौन सा नया उद्योग लगा है? किसको रोजगार मिला? इसका जवाब भाजपा सरकार क्यों नहीं देती?

अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश में विकास ठप्प है। अजीब बात है कि मुख्यमंत्री अपने उद्घाटन का भी उद्घाटन करने लगे है। समाजवादी पार्टी ने समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की शुरूआत की थी भाजपा उसे अभी तक पूरा नहीं कर पाई है जबकि समाजवादी सरकार में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे तय समय से पहले बना और उस पर सुखोई-मिराज वायुयान भी उतरे। आज आनलाइन पढ़ाई में समाजवादी पार्टी की सरकार में बांटे लैपटाप ही काम आ रहे हैं। उन्होंने कहा हमें संकल्प लेना है कि विभाजनकारी ताकते फिर कामयाब न हो और सन् 2022 में समाजवादी पार्टी की जीत सुनिश्चित करने के लक्ष्य की प्राप्ति के लिए समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता घर-घर जायेंगे।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार